देखिए अच्छे दिन का वादा कैसे तोड़ रहा दम, 15 साल में भी सरकार नहीं कर पाई डॉक्टर का इंतजाम

रेफरल सेंटर बनकर रह गया दाढ़ी का प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, डॉक्टर और स्टाफ की व्यवस्था नहीं

बेमेतरा (दाढ़ी). भाजपा सरकार के तीन पंचवर्षीय कार्यकाल लगभग पूर्ण होने को है। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र केवल सहायक चिकित्सा अधिकारी के भरोसे ही संचालित हो रहा है। यहां आपातकालीन सेवा नहीं मिल पाती है। केवल रेफर सेंटर बनकर रह गया है। कमोबेश जिले के अंतर्गत सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों की यही हालत है। शासन केवल बिल्डिंग ही बनवा रहा है। चिकित्सक नहीं दे पा रहा है।
जननी सुरक्षा योजना का नहीं मिल रहा पूरा लाभ
प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र दाढ़ी पर २८ गांवों के २२६०६ लोग स्वास्थ्य सेवा के लिए आश्रित हैं। यहां मेडिकल ऑफिसर, फार्मासिस्ट, लैब टेक्निशियन, ड्रेसर जैसे महत्वपूर्ण पद आज तक रिक्त हंै। इनके बगैर समुचित इलाज संभव नहीं है। शासन की महत्वपूर्ण जननी सुरक्षा योजना का भी लाभ पूरी तरह नहीं मिल रहा है। प्रसव कराने के बाद जज्चा-बच्चा को स्त्री रोग विशेषज्ञ एवं शिशु रोग विशेषज्ञ से जांच कराना जरूरी है। यहां केवल प्रसव कराकर कुछ उपलब्ध दवाई देकर छुटïï्टी कर दी जाती है। नियमत: योजनांतर्गत ४८ घंटे तक जच्चा-बच्चा को डॉक्टर की देखरेख में हॉस्पिटल में ही रखा जाना है।
अस्पताल में पानी का साधन तक नहीं
प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र दाढ़ी एएमओ पुष्पा जायसवाल ने बताया कि दाढ़ी पीएचसी के अंतर्गत ४ सब सेंटर कुरदा, उमरिया, तहार, जांता है। जांता में उपस्वास्थ्य केंद्र है, परंतु भवन नहीं है। उक्त सब सेंटरों में पर्याप्त स्टाफ नहीं है। इस प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के अंतर्गत २८ गांव है, लेकिन पर्याप्त स्टाफ नहीं होने, आवासीय भवन का अभाव, हॉस्पिटल में अतिरिक्त कमरे की आवश्यकता, बाउंड्रीवॉल, पानी का समुचित साधन का नहीं है। मेडिकल ऑफिसर का पद वर्षों से रिक्त होने से एमएलसी की सुविधा नहीं दे पा रहे हैं।
प्राथमिक उपचार में होती है दिक्कत
पुलिस थाना दाढ़ी टीआई जितेंद्र बंजारे ने बताया कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में मेडिकल ऑफिसर नहीं होने से दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। एक्सीडेंट, मारपीट जैसे गंभीर मामलों में सबसे पहले पीडि़त को प्राथमिक उपचार दिलाना और एमएलसी करना होता है। दोनों के लिए २५ किलोमीटर दूर जिला हॉस्पिटल ले जाना पड़ता है। इस प्रकार एक से डेढ़ घंटे का समय अतिरिक्त लगता है, जो पीडि़त है, उसके लिए बहुत ही नाजुक समय होता है।
नहीं मिले पर्याप्त चिकित्सक
पूर्व जनपद अध्यक्ष सुरेंद्र तिवारी ने बताया कि भाजपा सरकार की लगभग तीन पंचवर्षीय पूरा होने को है। १५ वर्ष के कार्यकाल में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों की बात छोडि़ए जिला अस्पातल में पर्याप्त चिकित्सक नहीं हैं। जिले में स्वास्थ्य सेवा की लचर व्यवस्था के कारण लोगों को समुचित स्वास्थ्य सेवा नहीं मिल रही है। कांग्रेस कार्यकाल में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र दाढ़ी में एमबीबीएस डॉक्टर पदस्थ थे। इनके कार्यकाल में अधिकांश सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र आरएमए के भरोसे संचालित हो रही है।

Show More
Laxmi Narayan Dewangan
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned