कोटवार ने डेढ़ करोड़ में सेवा भूमि का किया सौदा

rakesh malviya

Publish: Dec, 08 2017 10:39:32 (IST)

Hoshangabad, Madhya Pradesh, India
कोटवार ने डेढ़ करोड़ में सेवा भूमि का किया सौदा

रिकार्ड में नहीं लिखा सेवा भूमि, भूमि पर कब्जाधारी ने की शिकायत, लगाया आरोप, बयाने में दिए एक लाख

बैतूल। कोटवारी के दौरान मिलने वाली सेवा भूमि का कोटवार द्वारा लगभग डेढ़ करोड़ में बेचने के लिए सौदा तय कर लिया है। जमीन बेचने के लिए कोटवार ने जमीन के रिकार्ड में हेराफेरी भी की। रिकॉर्ड में इसे सेवा भूमि नहीं लिखा। उक्त आरोप कोटवारी की ही इस जमीन पर कब्जा करने वाले टिकारी निवासी एक व्यक्ति ने लगाए है। उन्होंने कलेक्टर से शिकायत कर सरकारी जमीन की खरोद-फरोख्त करने वालों पर कार्रवाई की मांग की है। कलेक्टर को दिए शिकायती आवेदन में टिकारी निवासी मनीष राठौर ने बताया कि सोनाघाटी में पांच एकड़ शासकीय जमीन है। यह जमीन कोटवार को सेवा भूमि के रुप मेंं दी गई है। कोटवार कोटवार मनोज और शारदा ने मिलीभगत कर सेवा भूमि को अपने नाम से दर्ज करा लिया और दस्तावेज भी तैयार कर लिए।

रिकार्ड में भूमि भी दर्ज नहीं कराया
भूमि के रिकार्ड में सेवा भूमि भी दर्ज नहीं कराया है। कोटवार को मिली यह सेवा भूमि अब उसके द्वारा बेची जा रही है। जिसका सौदा भी १ करोड़ ५५ लाख रुपए में किया है। जमीन अशीष मालवीय टिकारी को बेची जा रही है। सौ रुपए के स्टाम्प पर जमीन की लिखा-पढ़ी 10 नवंबर 2017 को की गई है। बयाने में कोटवार को एक लाख रुपए दिए गए हैं। 15 लाख रुपए की राशि 30 दिसंबर 2017 तक दी जाएगी। बाकी की राशि रजिस्ट्री के समय 30 दिसंबर 2018 को दी जाएगी। शिकायत में राठौर ने बताया कि जमीन के रिकॉर्ड में सेवा भूमि नहीं लिखा होने से इसकी रजिस्ट्री हो सकती है। उन्होंने बताया कि बेची जा रही जमीन के पुराने रिकॉर्ड निकाले जाए तो पूरी हकीकत सामने आ जाएगी। उन्होंने ने कलेक्टर से शिकायत कर मामले की जांच कर सेवा भूमि के रिकॉर्ड में हेराफेरी कर इसे बेचने वाले पर कार्रवाई की मांग की है। जिस जमीन को कोटवार द्वारा बेचा जा रहा है। इस पर शिकायतकर्ता का पिछले लगभग 15 वर्षों से कब्जा है।

इनका कहना
सेवा भूमि के रिकॉर्ड मेें हेराफेरी कर इसे बेचा जा रहा है तो मामले की जांच कर कार्रवाई की जाएगी। पुराने रिकार्ड में देखा जाएगा जमीन किसके नाम से दर्ज है।
संजीव पांडे, एसडीएम, बैतूल

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned