देर रात तक पाइप लाइन को सुधारने में जुटा रहा नगरपालिका का अमला

शहर के शंकर वार्ड स्थित एसटीडी चौक पर पेयजल सप्लाई की मेन पाइप लाइन को सुधारने के लिए बीते ४८ घंटों से नगरपालिका की अमला काम में जुटा हुआ है, लेकिन अभी तक सफलता नहीं मिल सकी है। ५०० एमएम व्यास वाली मेन पाइप लाइन की रबड़ सील टूटने से सप्लाई को बंद रखने के कारण रविवार को कोठीबाजार क्षेत्र में पेयजल की सप्लाई नहीं हो सकी।

By: Devendra Karande

Published: 22 Nov 2020, 08:58 PM IST

बैतूल। शहर के शंकर वार्ड स्थित एसटीडी चौक पर पेयजल सप्लाई की मेन पाइप लाइन को सुधारने के लिए बीते ४८ घंटों से नगरपालिका की अमला काम में जुटा हुआ है, लेकिन अभी तक सफलता नहीं मिल सकी है। ५०० एमएम व्यास वाली मेन पाइप लाइन की रबड़ सील टूटने से सप्लाई को बंद रखने के कारण रविवार को कोठीबाजार क्षेत्र में पेयजल की सप्लाई नहीं हो सकी। पाइप लाइन के लीकेज को सुधारने के लिए शनिवार सुबह से नगरपालिका का अमला लगा हुआ है। जेसीबी मशीन से खुदाई करने के बाद रविवार से पाइप लाइन को सुधारने का काम शुरू कर दिया गया है लेकिन गड्ढें में पानी भरने के कारण मोटर लगाकर खाली करने में एक घंटा लग गया। नगरपालिका के इंजीनियर नगेंद्र वागद्रे का कहना था कि देर रात तक पाइप लाइन के लीकेज को सुधारने का काम चल रहा है। यदि पाइप लाइन को जोड़ दिया जाता है तो फिर भी पेयजल सप्लाई में ७2 घंटे का समय लगा सकता है, क्योंकि लीकेज वाले हिस्से को कांक्रीट बेस से कवर्ड किया जाएगा।
अंधेरे में काम करना बना चुनौती
सुबह से पाइप लाइन को सुधारने में जुटा नगरपालिका का अमला देर रात तक काम करता नजर आया। जेसीबी मशीन की मदद से पाइपों को जगह पर सेट किया गया। बताया गया कि ५०० एमएम व्यास वाली पाइप लाइन में टर्न के पास ज्वाइंट में लीकेज होने के कारण इसे सुधारने में काफी समय लगा रहा है। पाइप लाइन के १८ नट-बोल्ट को खोलने के बाद पाइप लाइन के दोनों सीरों को अलग किया गया। इसके बाद रबड़ सील को पाइप के अंदर फीट कर पाइप को पुन: आपस में जोड़ा जा रहा है लेकिन पाइप काफी वजनी होने के कारण इन्हें आपस में जोडऩे में काफी समय लगा रहा है। यही कारण है कि देर रात तक पाइपों को जोडऩे का काम चलता रहा। नगरपालिका के मुताबिक पाइप लाइन को जोडऩे के बाद इसके ऊपर कांक्रीट बेस की मोटी परत बिछाई जाएगी। जिसे ७२ घंटे तक सेट होने दिया जाएगा उसके बाद ही पुन: पेयजल की सप्लाई को शुरू किया जा सकेगा।
कोठीबाजार क्षेत्र में नहीं हो सकी पेयजल सप्लाई
मेन पाइप लाइन में लीकेज की वजह से रविवार को कोठीबाजार क्षेत्र में पेयजल की सप्लाई नहीं हो सकी। कोठीबाजार क्षेत्र के अंतर्गत करीब दस से बाहर वार्ड आते हैं, इन वार्डों में पानी की सप्लाई प्रभावित रही। नगरपालिका द्वारा वार्डों में सप्लाई प्रभावित होने की सूचना सुबह ही लोगों को दे दी गई थी। वैसे जो स्थिति है उसमें एक-दो दिन और लोगों को पेयजल सप्लाई को लेकर समस्या का सामना करना पड़ सकता है। बताया गया कि पाइप लाइन में जो रबड़ी सील लगाई गई है वह पाइप लाइन में पानी का प्रेशर झेल पाएगी यह नहीं यह तो सप्लाई शुरू करने के बाद ही पता चल सकेगा। यदि पुन: लीकेज आता है तो नगरपालिका के लिए मुश्किलें खड़ी हो सकती है।
भारी वाहनों की आवाजाही से बर्बाद हो रही लाइन
एसटीडी चौक पर भारी वाहनों की आवाजाही की वजह से बार-बार पाइप लाइन लीकेज होना बताया जा रहा है। इसके पहले पांच बार लीकेज हो चुका है। पूर्व में जो लीकेज हुआ था उसे सुधारने के बाद नगरपालिका द्वारा कांक्रीट बेस डालकर इसे मजबूत कर दिया गया था लेकिन भारी ट्रकों की आवाजाही से कांक्रीट बेस नीचे दबने के कारण लाइन में प्रेशर पड़ा और पुन: लीकेज हो गया। बार-बार होने वाले लीकेज की समस्या को देखते हुए अब नगरपालिका इसका स्थाई समाधान खोजने की तैयारी कर रही है। ताकि भारी वाहन पाइप लाइन के ऊपर से न गुजर सके। बताया गया कि अमृत योजना में पाइप लाइन डालने वाली गुजरात की एपीसीएल कंपनी और नगरपालिका के बीच लेनदेन के विवाद से काम बीच में ही छोड़ दिया गया था। जिसके कारण नगरपालिका पर पाइप लाइन की देर रेख का जिम्मेदारी आ गई है।
इनका कहना
- रात तक पाइप लाइन को सुधार लिया जाएगा लेकिन पेयजल सप्लाई में अभी समय लग सकता है। पाइप लाइन को मजबूती देने के लिए कांक्रीट बेस बिछाया जाएगा। जिसे सेट होने में करीब ७२ घंटे लग सकते हैं। इसके बाद ही लाइन को पुन:शुरू किया जाएगा।
- नगेंद्र वागद्रे, सब इंजीनियर नगरपालिका बैतूल।

Devendra Karande Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned