पुलिस ने कर दी ये गल्ती...फिर

-जिला व्यापार महासंघ ने की बैठक

By: Meghshyam Parashar

Published: 07 Apr 2021, 10:38 AM IST

भरतपुर . जिला व्यापार महासंघ की एक आपात बैठक मंगलवार सुबह मोहित क्लॉथ स्टोर पर जिलाध्यक्ष संजीव गुप्ता की अध्यक्षता में हुई। बैठक में कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए प्रशासन की ओर से नई गाइड लाइन की पालना के तहत सोमवार शाम पुलिस के गलत तरीके से दुकान बंद कराने के प्रयास व धमकी भरे अंदाज में दुकानदारों को प्रभावित करने की निंदा की गई।
बैठक में कहा कि आदेशों में रात आठ बजे से सुबह छह बजे तक का समय निर्धारित किया गया है, जबकि पुलिस वाले सात बजे से ही दुकान बंद कराने लगे। आदेश दिखाने की मांग पर राठौड़ी की स्थिति बनाने लगे। इससे व्यापारियेां में रोष बढ़ गया। व्यापारियों ने कहा कि यह दुखद स्थिति पुलिस की गलत भाषा के चलते हुई। नगर निगम की ओर से लाउड स्पीकर पर प्रचार के तहत दुकानों को सीज करने को भी व्यापारियों ने अनुचित बताते हुए कहा कि यह भाषा ठीक नहीं है। बैठक में व्यापारियों ने हमेशा प्रशासन का सहयोग करने की बात कही। महासंघ ने व्यापारियों से कोरोना में सतर्कता बरतने की अपील करते हुए ग्राहकों से भी मास्क लगाने तथा 2 गज की दूरी रखने का आग्रह किया है।

चिकित्सा राज्यमंत्री को कराया अवगत

बैठक में चिकित्सा राज्य मंत्री से भी फोन पर वार्ता हुई। उन्होंने जिला कलक्टर से मिलने की बात कही। इसके बाद व्यापार महासंघ का एक प्रतिनिधिमण्डल जिलाध्यक्ष संजीव गुप्ता की अध्यक्षता में कलक्टर से मिला तथा उन्हें प्रशासन की ओर से जारी गाइड लाइन के विपरीत जल्दबाजी में पुलिस द्वारा जबरन 7 बजे से ही दुकानों को बंद कराने व धमकी भरी भाषा का इस्तेमाल करने की बात कही। इस पर जिला कलक्टर ने नाराजगी जाहिर करते हुए आगे से ऐसा नहीं होगा। उन्होंने व्यापारियों से आगे के लिए सतर्कता बरतने की बात कहते हुए पुलिस के व्यवहार को अनुचित बताया। जिला कलक्टर ने ढाबा-होटल वालों को 10 बजे तक की छूट देने एवं ट्रांसपोर्ट वाले दुकानदारों का सामान दोपहर 1 बजे से 4 बजे तक पहुंचाने की छूट देने की बात को मानते हुए टीआई को निर्देश देने की बात कही। साथ ही नगर निगम के सामने मटका आदि बेचने वालों से रास्ते में आने वाली समस्या के समाधान की बात रखी। प्रतिनिधि मण्डल में जिला महामंत्री नरेन्द्र गोयल, मोहनलाल मित्तल, प्रमोद सर्राफ, अशोक शर्मा, गोपी सिंह, संजय गर्ग, राजीव शर्मा, चन्द्रभान गुप्ता, प्रवीन खंडेलवाल, राजेन्द्र अग्रवाल, संजय खंडेलवाल, नत्थी सिंह डागुर, तेजवीर सिंह, सुरेश मित्तल, विनोद बबुआ, सुन्दर सिंह होल्कर, हरीश सहजवानी, राजू भारद्वाज, कमल सेवाराम, सुमित अरोडा एवं अनिल माथुर आदि मौजूद रहे। बैठक का संचालन नरेन्द्र गोयल ने किया।

कफ्र्यू की अवधि में हुआ आंशिक संशोधन

जिले के नगर निगम एवं नगरपालिका क्षेत्रों में रात्रिकालीन कफ्र्यू के आदेशों में आंशिक संशोधन किया गया है। जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अध्यक्ष एवं जिला कलक्टर नथमल डिडेल ने बताया कि जिले के शहरी क्षेत्रों में रात्रिकालीन कफ्र्यू रात्रि आठ बजे से सुबह छह बजे तक प्रभावी रहेगा। इस अवधि में क्षेत्रों के समस्त बाजार पूर्ण रूप से बंद रहेंगे। राज्य सरकार की ओर से अनुमत गतिविधियों पर यह आदेश प्रभावी नहीं होंगे।

आगामी आदेशों तक नहीं होंगी जनसुनवाई

जिला कलक्टर नथमल डिडेल ने आदेश जारी कर जिला स्तर पर माह के प्रथम शुक्रवार, उपखण्ड स्तर पर अंतिम शुक्रवार एवं ग्राम पंचायत स्तर पर द्वितीय एवं तृतीय गुरुवार को आयोजित होने वाली जनसुनवाई कोविड-19 संक्रमण के बढ़ते प्रभाव को दृष्टिगत रखते हुए अंतिम आदेशों तक स्थगित कर दी गई हैं।

Meghshyam Parashar Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned