चाहती हूं...घना तक सीमित न रहें पर्यटक, बृज के स्थलों का भी करें भ्रमण

- पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की धार्मिक यात्रा
- भरतपुर के पूछरी का लौठा से हुई दो दिवसीय यात्रा की शुरुआत
- स्वागत-अभिनन्दन को उमड़े समर्थक नेता, राजे ने किया संबोधित
- मां यशोधरा राजे सिंधिया की भूमिका और नसीहतों को किया याद
- गहलोत सरकार पर साधा निशाना, कहा- जनसरोकारों के काम में राजनीति ना करे सरकार
-मां ने कहा था अकेले कभी तीर्थ पूरा नहीं होता, इसलिए सभी को साथ ले रही हूं: वसुंधरा राजे

By: Meghshyam Parashar

Published: 07 Mar 2021, 01:42 PM IST

भरतपुर. भरतपुर के पूछरी का लौठा पहुंचने पर पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का गर्मजोशी के साथ स्वागत किया गया। स्वागत में राखी गई एक सभा को संबोधित करते हुए राजे ने सबसे पहले अपनी मां राजमाता यशोधरा राजे सिंधिया को याद किया। उन्होंने कहा, 'मेरी मां ने दीपक को जलाया है, कमल को खिलाया है। उन्होंने न तो कभी दीपक की लौ को कम होने दिया और न कभी कमल को मुरझाने दिया। उनके रग-रग में भाजपा और नस-नस में राष्ट्रवाद था। मैं उन्हीं की बेटी हूँ। मां याधोधरा की दी सीख तो याद करते हुए राजे ने कहा कि उनकी मां ने ही उन्हें बताया था कि अकेले तीर्थ जाने से तीर्थ पूरा नहीं होता। इसलिय सभी को साथ लेकर गिरिराज महाराज के तीर्थ किये जा रहे हैं। राजे ने कहा कि इस धार्मिक क्षेत्र से मेरा गहरा जुड़ाव रहा है इसलिए इस बार मैंने यहाँ के पवित्र आस्था स्थलों को नमन करके अपना जन्म दिवस मनाने का निर्णय लिया है।

पूर्व सरकार के गिनाये विकास कार्य

राजे ने पूर्ववर्ती भाजपा सरकार के दौरान क्षेत्र के लिए किये गए विकास कार्य गिनाये। उन्होंने कहा कि पूर्व सरकार ने 165 करो? रूपए की से जन-जन की आस्था के सप्त कोसीय व ब्रज चौरासी कोस परिक्रमा मार्ग का विकास करवाया। लगभग सा?े 3 लाख रूपए की लागत से यहाँ के प्रसिद्ध विमल कुंड के संरक्षण व विकास का काम करवाया। यहां के प्रसिद्ध दंगल को ज़िंदा रखने के लिये दंगल स्टेडियम बनवाया। राजे ने आगे कहा कि उनकी सरकार के दौरान 11 करो? 12 लाख रूपए की लागत से मुख्या कैनाल का विकास करवाया। वहीं भरतपुर, धौलपुर, अलवर, झालावाड़, बांरा, कोटा, बूंदी, सवाई माधोपुर, अजमेर, टोंक, जयपुर, दौसा और करौली जिलों की प्यास बुझाने के लिए हमारी सरकार ने परियोजना की डीपीआर बनाकर उस पर काम शुरू किया था। राजे ने कहा कि पूर्व सरकार ने कोटा जिले के नवनेरा बैराज के निर्माण के लिए 1600 करोड़ रूपए स्वीकृत किये थे। नवनेरा बैराज का काम प्रगति पर है।

जनसरोकारों में राजनीति ना करे सरकार

राजे ने गहलोत सरकार से अपील करते हुए कहा कि राज्य सरकार इन 13 जिलों की इस जीवन दायीनी परियोजना को लेकर राजनीति न करे, क्योंकि लोगों की मूलभूत ज़रूरतों को पूरा करना राज्य सरकार का धर्म है, जिसे वह निभायें और हमारी इस परियोजना को आगे बढ़ाये। उन्होंने कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि अब सिर्फ़ इस क्षेत्र का ही नहीं बल्कि पूरे प्रदेश का विकास थम गया है। पूर्व मुख्यमंत्री राजे ने सभा में मौजूद लोगों को कहा कि वे गिरिराज महाराज से विकास विरोधी अशोक गहलोत की कांग्रेस सरकार को बेदखल करने की प्रार्थना करने आई हैं, ताकि प्रदेश में फिर से विकास की बहार लाई जा सके। उन्होंने सभी से इस मुहीम में साथ आगे ब?ने की अपील की।

वसुंधरा समर्थक ये नेता रहे मौजूद

सांसद सुखबीर सिंह जौनापुरिया, सांसद रंजीता कोली, सांसद डॉ मनोज राजोरिया, पूर्व मंत्री कालीचरण सर्राफ, पूर्व मंत्री प्रभुलाल सैनी, पूर्व मंत्री हेमसिंह भड़ाना, पूर्व मंत्री कृष्णेंद्र कौर दीपा, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी, राजपाल सिंह शेखावत, पूर्व सांसद बहादुर सिंह कोली, पूर्व विधायक विजय बंसल, पूर्व विधायक अनीता सिंह गुर्जर, जवाहर सिंह, हेमसिंह भड़ाना आदि उपस्थित रहे।

Meghshyam Parashar Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned