ये फर्जी लेफ्टिनेंट कर्नल तो रेपिस्ट और ठग निकला, पढ़िए पूरी कहानी

पंजाब में भारतीय सेना का लेफ्टिनेंट कर्नल बनकर एक व्यक्ति ने पांच महिलाओं के साथ दुष्कर्म किया। लाखों रुपये की ठगी की। इसके लिए मकान तक बिकवा दिए। सेना में भर्ती कराने का ठेका लिया।

By: Bhanu Pratap

Updated: 25 Aug 2020, 02:33 PM IST

फतेहगढ़ साहिब। पंजाब में भारतीय सेना का लेफ्टिनेंट कर्नल बनकर एक व्यक्ति ने पांच महिलाओं के साथ दुष्कर्म किया। लाखों रुपये की ठगी की। इसके लिए मकान तक बिकवा दिए। सेना में भर्ती कराने का ठेका लिया। पुलिस की गिरफ्त में आया तो सारी हेकड़ी निकल गई। सारी सच्चाई सामने आ गई। अब वे महिलाएं सामने आई हैं, जिनके साथ उसने रेप किया। यह फर्जी लेफ्टिनेंट कर्नल चार दिन पहले सरहिंद में पकड़ा गया था।

वर्दी के रौब में महिलाओं से संबंध बनाए

फर्जी कर्नल की गिरफ्तारी के बाद मकान मालकिन ने मंडी गोबिंदगढ़ थाने में रेप की शिकायत दर्ज करवाई है। मकान मालकिन ने आरोप लगाए कि पैसा निवेश करने का झांसा देकर शातिर ने उसके दो मकान बिकवा दिए और उसके 60 लाख रुपये भी हड़प लिए। इस पर पुलिस ने दुष्कर्म और आम्र्स एक्ट के तहत एक और केस आरोपित पर दर्ज किया है। पुलिस को जानकारी मिली है कि आरोपित वर्दी का रौब दिखाकर अब तक वह पांच महिलाओं को झांसे में फंसाकर शारीरिक संबंध बना चुका है। उनके पैसे भी हड़प चुका है।

कोर्ट ने रिमांड तीन दिन और बढ़ाई

लुधियाना जिले के गांव मंझ फग्गूवाले निवासी शोभराज को सरहिंद सीआइए स्टाफ ने पिछले वीरवार को गिरफ्तार किया था। पुलिस रिमांड खत्म होने के बाद आरोपित को जिला सेशन जज की अदालत में पेश किया गया। अदालत ने आरोपित का पुलिस रिमांड तीन दिन बढ़ा दिया है। रिमांड के दौरान पुलिस उन लोगों का पता लगाएगी, जिनसे सेना में भर्ती के नाम पर लाखों रुपये ठगे हैं।

गनमैन भी पकड़ा

शातिर ने जिन बैंकों से कर्ज के नाम पर धोखाधड़ी की है उसे साथ लेकर जाकर वहां भी रिकॉर्ड खंगाला जाएगा। कौन-कौन फर्जी दस्तावेज देकर उसने कर्ज लिया था। पुलिस ने आरोपित के रिश्तेदार भीम निवासी कुतबेवाल (लुधियाना) को भी गिरफ्तार कर लिया है। भीम फर्जी लेफ्टिनेंट कर्नल के साथ गनमैन या ड्राइवर बनकर साथ घूमता था।

सेना में भर्ती के नाम पर ठगी

फर्जी लेफ्टिनेंट कर्नल सेना में भर्ती के नाम पर करीब 16 युवकों से लाखों रुपये ठग चुका है। अधिकतर युवकों को आरोपित ने फर्जी डीईओ लैटर भी जारी कर दिए थे। आरोपित इतना शातिर है कि कभी किसी पुलिस या सैन्य अधिकारी को इस बात की भनक तक नहीं लगने दी कि वह फर्जी लेफ्टिनेंट कर्नल है। वह सेना के अधिकारियों से भी मिलता था।

coronavirus
Show More
Bhanu Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned