पेड़ में लटका मिला युवक का शव, सुसाइडल नोट में लिखा डॉक्टर को दिया था नौकरी लगाने 3 लाख रुपए

Suicide in Bhilai: पुलिस को एक सुसाइडल नोट मिला है। नंदिनी थाना पुलिस ने बताया कि मृतक इकेश्वर यादव (28 वर्ष) वार्ड-5 नंदिनी में रहता था।

By: Dakshi Sahu

Published: 18 May 2021, 11:54 AM IST

भिलाई. नंदिनी टाउनशिप में एक पेड़ पर फांसी लगाकर युवक ने खुदकुशी कर ली। इस घटना से क्षेत्र में हड़कंप मच गया। मौके पर पुलिस पहुंची मर्ग कायम कर मामले को जांच में लिया। पुलिस को एक सुसाइडल नोट मिला है। नंदिनी थाना पुलिस ने बताया कि मृतक इकेश्वर यादव (28 वर्ष) वार्ड-5 नंदिनी में रहता था। वह सोमवार को दोपहर 2 बजे घर से निकला था, लेकिन घर लौटकर नहीं आया। देर शाम टाउनशिप के लोगों ने उसे झाडिय़ों के बीच पेड़ से लटका हुआ देखा। लोगों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को नीचे उतारा। पुलिस ने जब शव की तलाशी ली तो एक सुसाइडल नोट मिला।

Read more: रात में नानी ने लोरी गाकर सुलाया, सुबह 10 वीं की छात्रा फंदे पर लटके मिली, सदमे में परिवार ....

डॉक्टर को नौकरी लगाने दिया 3 लाख रुपए
पुलिस ने बताया कि युवक ने सुसाइडल नोट में लिखा है कि नौकरी लगाने के नाम पर उसने डॉक्टर को 3 लाख रुपए दिए थे। मृतक वर्तमान में सीमेंट कंपनी में कार्यरत था। उसकी पत्नी और एक छोटा बच्चा है। युवक के आत्मघाती कदम से पूरे परिवार में मातम छा गया है। फिलहाल पुलिस ने पैसों के लेनदेन मामले में जांच शुरू कर दी है। वहीं परिजनों से भी पूछताछ किया जा रहा है कि आखिर वो डॉक्टर कौन है जिसे युवक ने पैसे दिए थे।

गबन मामले में आया नाम तो युवक ने किया आत्महत्या

राजनांदगांव जिले के खैरागढ़ शहर के आंबेडकर वार्ड निवासी युवक ने अज्ञात कारणों से सोमवार को घर में ही फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। आंबेडकर वार्ड निवासी 31 वर्षीय करण बाल्मिक का शव सुबह घर में फांसी पर झूलता मिला। परिजनों की सूचना के बाद आनन फानन में युवक को सिविल अस्पताल पहुंचाया गया लेकिन युवक कीमौत हो चुकी थी। मृतक करण स्थानीय स्टेट बैंक शाखा में केसीसी और एसबीआई लाइफ कार्य देखता था। युवक नें फांसी लगाकर आत्महत्या क्यों की इसकी जांच की जा रही है। लेकिन मिली जानकारी मुताबिक आत्महत्या का यह मामला शराब दुकान के पैसा जमा करने वाले 32 लाख रू के गबन से जुड़ा बताया जा रहा है।

लॉकडाउन के दौरान शराब दुकान की राशि में 32 लाख रू के गबन के मामलें में पुलिस नें 11 मई को शहर के किलापारा निवासी अखिलेश सोनी को गिरप्तार कर जेल भेज दिया है। बताया गया कि आरोपी अखिलेश द्वारा शराब दुकान के गबन किए गए 32 लाख रू में से अधिकांश राशि मृतक के हवाले से ही ब्याज में वितरित किया गया था। अखिलेश सोनी द्वारा अपने बयान में करण का नाम भी लिया गया था तब से करण काफी ज्यादा परेशान था। हालंकि पुलिस मामले के हर एंगल से जांच रही है परिजनों के बयान लिए गए है। 32 लाख रुपए के मामले की जांच भी की जा रही है।

Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned