6578 नुकीले कीलों की शैया पर नंगे बदन क्यों लेटा है यह शख्स

कोरोना महामारी को विश्व से मिटाने तप, 24 घंटे तक चलेगा माता का पूजा अर्चना.

By: Abdul Salam

Updated: 19 Oct 2020, 12:26 AM IST

भिलाई. पुरैना के जगदेव देवांगन (53 साल) रविवार को दोपहर 12 बजे से 6578 नुकीले कीले पर नंगे बदन लेट गया है। वह कोरोना महामारी को विश्व से मिटाने के लिए माता दुर्गा के सामने यह तप कर रहा है। वह २४ घंटे तक इस तरह से लेटा रहेगा। यह बहुत ही मुश्किल तप है लेकिन उसे भरोसा है कि माता की इस तरह से अराधना करने पर कोरोना पूरे विश्व से जड़ समेत खत्म हो जाएगा। वहीं इस तप से जन का कल्याण होगा।

गांव के लोग जुटे पूजा-पाठ में
नुकीले कीले की शैया पर लेटे तपस्वी के समीप गांव के लोग एक जुट हो गए हैं। वे लगातार माता का भजन और कीर्तन कर रहे हैं। यह तप सोमवार को दोपहर 12 बजे तक जारी रहेगा। यह खबर आसपास के गांव में भी आग की तरह फैल रही है कि कोरोना के खिलाफ एक तपस्वी जो हर साल माता की पूजा अलग-अलग तरीके से करता आ रहा है, वह इस बार कीले की शैया पर लेट गए हैं। गांव में चल रहा माता का जगराता कार्यक्रम.

Abdul Salam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned