रसूखदार ने दूसरे की जमीन को अपना बताकर बेच दिया 20 लाख में, तीन साल में नहीं हुआ रजिस्ट्री तब पीडि़त पहुंचा थाने

पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। जामुल टीआई ने बताया कि वर्ष 2016 में विजय ने वैशाली नगर निवासी आरोपी रंजीत श्रीवास्तव से जमीन खरीदी थी।

By: Dakshi Sahu

Published: 24 May 2020, 12:50 PM IST

भिलाई. दूसरे की जमीन को 20 लाख रुपए में सौदा कर बिक्री करने के मामले में आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस के मुताबिक आरोपी रंजीत श्रीवास्तव ने इकरारनामा किया। नकद और चेक से 20 लाख रुपए लिया। इसके बाद रजिस्ट्री नहीं किया और तीन साल से उसे घुमाते रहा। विजय कांत पांडेय की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी ने रंजीत के खिलाफ धारा 420 के तहत प्रकरण दर्ज किया।

किया था इकरारनामा
पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। जामुल टीआई लक्ष्मण कुमेटी ने बताया कि वर्ष 2016 में विजय ने वैशाली नगर निवासी आरोपी रंजीत श्रीवास्तव से जमीन खरीदी थी। विजय ने 100 रुपए वर्गफ ीट के हिसाब से 5 हजार वर्गफ ीट जमीन का सौदा किया। 5 लाख रुपए चेक के माध्यम से उसे दिया। तीन माह के अंदर में रजिस्ट्री करने का इकरारनामा भी किया।

15 लाख रुपए विजय ने उसे नकद में दिया। अब रंजीत उस जमीन की रजिस्ट्री नहीं कर रहा है। पड़ताल की तो वह जमीन का टुकड़ा किसी दूसरे के नाम से रजिस्टर्ड है। जब रंजीत से अपनी रकम को वापस मांग किया तो पहले उसे घुमाते रहा। अब जान से मारने की धमकी देने लगा।

ऐसे करता है रसूखदार जमीन की खरीद फरोख्त
पुलिस ने बताया कि कुरुद के किसान नरसिंह के साथ 100 रुपए के स्टाम्प पेपर में इकरारनामा कर सौदा किया। उसकी 2 एकड़ 16 डिसमील जमीन को प्रति एकड़ 75 लाख रुपए की दर से 1 करोड़ 65 लाख के करीब एग्रीमेंट किया। इस बीच उसने सिर्फ 5 लाख रुपए किसान को दिया। इसके बाद प्लाट कटिंग कर उसे जमीन को बेचना शुरू कर दिया।

Show More
Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned