बीएसपी के सीपीएफ ट्रस्ट ने लिया फैसला, यूपी, पंजाब जोखिम निवेश बंद

बीएसपी के सीपीएफ ट्रस्ट ने लिया फैसला, यूपी, पंजाब जोखिम निवेश बंद
BHILAI

Abdul Salam | Updated: 04 Jul 2019, 10:43:37 PM (IST) Bhilai, Durg, Chhattisgarh, India

भिलाई इस्पात संयंत्र कर्मियों को नए सीपीएफ लोन लेने के लिए अपने पुराने सीपीएफ लोन को जमा करने की कोई जरूरत नहीं होगी.

भिलाई. भिलाई इस्पात संयंत्र ट्रस्ट सिर्फ भारत सरकार के गवर्नमेंट बॉड व सेंट्रल पब्लिक सेक्टर यूनिट में ही निवेश कर रहा है। भिलाई स्टील प्लांट सीपीएफ ट्रस्ट के सभी वर्तमान मैनेजमेंट व यूनियन ट्रस्टी अपनी जिम्मेदारियों को भली-भांति जानते हैं। इसलिए ऐसे किसी भी जोखिम भरे निवेश के लिए कड़े मापदंड बनाए हुए हैं। जिस पर पूरी तरह से अमल किया जा रहा है। पूर्व मान्यता प्राप्त यूनियन सीटू सीपीएफ ट्रस्ट को 5 साल संचालित कर अपना कार्यकाल पूरा किया और वर्तमान माइंस ट्रस्टीयों को अभी 5 माह भी पूरा नहीं हुआ है और अभी से वह इसका आंकलन शुरू कर दिया है।

कर्मियों के हित का ख्याल
संयुक्त खदान मजदूर संघ (एसकेएमएस) के राजहरा इकाई अध्यक्ष व वर्तमान ट्रस्टी कंवलजीत सिंह मान ने यह बात कही। वहीं नंदिनी खदान के ट्रस्टी मृणाल शाह ने कहा कि भिलाई की पूर्व मान्यता प्राप्त यूनियन कर्मियों के हित का ख्याल रखते हुए भिलाई सीपीएफ ट्रस्ट को अपनी गंदी राजनीति का अखाड़ा ना बनाएं। पूर्व मान्यता प्राप्त यूनियन ट्रस्टीयों ने यूपी और पंजाब में किए गए निवेश पर कोई टिप्पणी नहीं करनी है।

बदलाव की तैयारी
मान ने बताया कि बीएसपी व खदान का सीपीएफ ट्रस्ट में कर्मचारी हित में नए बदलाव की तैयारी शुरू कर दी गई है। जिससे कर्मियों को नए सीपीएफ लोन लेने के लिए अपने पुराने सीपीएफ लोन को जमा करने की कोई जरूरत नहीं होगी। नए लोन में ही उसे समायोजित कर दिया जाएगा। जिसका सीधा फायदा संयंत्र व खदान के कर्मियों को मिलेगा। यूनियन चुनाव आचार संहिता हटते ही इसे अमल में ले लिया जाएगा।

समर्थन का फैसला
राजहरा, हिर्री व नंदिनी तीनों माइंस यूनियन के ऑर्डिनेटर आर श्रीधर ने बताया कि संयुक्त यूनियन को समर्थन देने का फैसला केंद्रीय नेताओं के समक्ष एसकेएमएस की तीनों खदान इकाई की कार्यकारिणी के बैठक में लिए हैं। जिस पर अडिग हैं।

मिल कर किया जाएगा संघर्ष
हिर्री माइंस के दिनेश शर्मा ने बताया कि इस्पात श्रमिक मंच के साथ आगे भङी मिलकर तीनों माइंस यूनियन बीएसपी व खदान कर्मियों के पे रिवीजन व दूसरी समस्या को दूर करने के लिए साथ- साथ संघर्ष करेगी।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned