जुआरी की पत्नी निकली कोरोना पॉजिटिव, छापा मारने गए पुलिसकर्मियों के उड़े होश, थाना के स्टाफ पर मंडराया संक्रमण का खतरा

चरोदा रेलवे कॉलोनी के खंडहर में चल रहे जुए के अड्डे पर छापा मारने वाली टीम में शामिल पुलिस कर्मियों में हड़कंप मच गया है। क्योंकि पुलिस के हत्थे चढ़े एक जुआरी की पत्नी में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। (Chhattisgarh coronavirus update)

By: Dakshi Sahu

Published: 15 Jul 2020, 10:46 AM IST

भिलाई. चरोदा रेलवे कॉलोनी के खंडहर में चल रहे जुए के अड्डे पर छापा मारने वाली टीम में शामिल पुलिस कर्मियों में हड़कंप मच गया है। क्योंकि पुलिस के हत्थे चढ़े एक जुआरी की पत्नी में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। महिला के पति को रविवार शाम को 10 जुआरियों के साथ भिलाई तीन पुलिस ने पकड़ा था। सभी को थाने लाकर कार्रवाई की गई थी। इसके बाद मुचलके पर छोड़ दिया गया था। जुआ एक्ट के आरोपी की पत्नी के कोरोना संक्रमित होने का पता चलते ही साथी जुआरियों और भिलाई-3 थाना स्टाफ में हड़कंप मचा हुआ है। कुम्हारी नगर पालिका क्षेत्र की एक गर्भवती महिला कोरोना संक्रमित पाई गई है। सोमवार को उसे इलाज के लिए एम्स में भर्ती करा गया है। महिला के पति समेत घर के सभी सदस्यों के कोरोना जांच के लिए सेम्पल ले लिया गया है। वहीं वार्ड को सैनिटाइज करने के बाद प्रशासन ने सील कर दिया है।

10 जुआरियों को पुलिस ने पकड़ा
कोरोना संक्रमित महिला का पति रविवार को चरोदा रेलवे कॉलोनी के एक खंडहर मकान में जुआ खेल रहा था। वहां तीन जगह जुए का फड़ लगा था। पुलिस ने कोरोना संक्रमित महिला के पति समेत 10 जुआरियों से 60 हजार 600 रूपए जब्त कर जुआ एक्ट के तहत कार्रवाई की थी। इस दौरान लगभग 2 घंटे तक संक्रमित महिला का पति अन्य आरोपियों के साथ थाने में मौजूद रहा। अब जब एक आरोपी के पत्नी में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हो गई है तो पुलिस स्टाफ में संशय के साथ भय की स्थिति बन गई है। वहीं समूह में महिला के पति के साथ जुआ के अड्डे में मौजूद रहे लोगों में भी भय का माहौल बन पड़ा है।

फरार जुआरियों को ट्रेस करना बड़ी चुनौती
जुआ के अड्डे पर छापेमारी में पकड़े गए 10 आरोपियों में से 4 चरोदा इलाके से बाहर के थे। घटना पर पुलिस रेड की सूचना पर कुछ लोग भाग गए थे। बड़ी बात यह है कि अब जब एक आरोपी की पत्नी कोरोना संक्रमित हुई है तो उसके संपर्क में आए लोगों की पहचान करना पुलिस के लिए चुनौतीपूर्ण हो गया है।

जिले में मिले 13 नए मरीज
मंगलवार देर रात आए रिपोर्ट में दुर्ग जिले में 13 पॉजिटिव केस सामने आए है। हालंाकि सभी कोरोना संक्रमितों को जुनवानी स्थित अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं बोरीगारका में रैण्डम जांच के अलावा मंगलवार को 49 बच्चों की रैपिट किट से जांच की गई। जिसमें सभी को रिपोर्ट निगेटिव होना पाया गया। बोरीगारका में सोमवार को 2 आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और महिला रोजगार सहायक की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने काउंसलिंग में खुलासा किया था कि वे वजन त्यौहार में व्यस्त थी और 80 बच्चों के सीधे संपर्क में आई है।

इस खुलासे के बाद मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग की विशेष टीम बोरीगारका पहुंची और 49 बच्चों को रैपिट किट से जांच की। रिपोर्ट निगेटिव आने पर राहत की सांस ली। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. गंभीर सिंह ठाकुर ने बताया कि गांव में कुछ दिनों तक नजर रखी जाएगी। पूरी तरह से आश्वास्त होने के बाद टीम को वापस बुलाया जाएगा। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य विभाग ने नए तरह का रैपिट किट भेजा है। जिसमें किसी तरह का एन्टेनम होने से डिटेक्ट हो जाता है। इस किट की जांच में 85 प्रतिशत विश्वसनीयता है। रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर ही वे ट्रू नाट या फिर आरटीपीसीआर सैंपल कलेक्ट करेंगे। नए किस्म के रैपिट किट बेहतर होने की वजह से बोरीगारका के बच्चों की जांच इसी किट से की गई है।

जिले की 2 आंगनबाड़ी कार्यकताओं के कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी मिलने पर अधिकारियों ने बोरीगारका ग्राम के दोनों आंगनबाड़ी केन्द्रों में पहुंचकर वहां की परिस्थितियों को समझा। दोनों केन्द्रों के भवनों को सैनिटाइज कराया गया। स्वास्थ्य विभाग से समन्वय कर दोनों सहायिकाओं एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के परिजनों, ग्रामवासियों एवं बच्चों आदि का कोरोना टेस्ट के लिए परीक्षण कराया गया। सभी को कोरोना बचाव की समझाइश दी गयी। उन्हें मोटिवेट भी किया गया एवं प्रभावित आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को मदद की गई।ं

क्वारंटाइन में रह रहे जवान पॉजिटिव
खास बात यह है कि बीएसएफ के आरक्षक व प्रधान आरक्षकों की रिपोर्ट लगातार कोरोना पॉजिटिव आ रही है। सोमवार की देर रात आई रिपोर्ट में 7 बीएसएफ के जवान हैं। सभी जवान क्वारंटाइन सेंटर में थे। इसके अलावा 6 धमधा ब्लाक के ग्रामीण हैं।

मितानिन व कार्यकर्ता की भी होगी जांच
ग्राम बोरीगारका में एक साथ दो कार्यकर्ता का रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर विभाग के अधिकारियों ने सभी कार्यकर्ता और मितानिन का एक्टिव हाउस होल्ंिडग सर्वे कर स्क्रीनिग करने का निर्णय लिया है। यह सर्वे शुरू भी हो चुका है। संभावना के आधार पर सैंपल कलेक्ट किया जाएगा।

प्राइवेट अस्पतालों में भी नजर
स्वास्थ्य विभाग सरकारी अस्पताल समेत अब प्राइवेट अस्पतालों में भी नजर रख रही है। सभी अस्पतालों को वायरल से पीडि़त मरीजों की जानकारी मांगी जा रही है। अधिकारियों के मुताबिक मंगलवार की स्थिति मे 5651 मरीज ओपीडी तक पहुंचे। जिसमे से बुखार के 113, सर्दी खांसी से 210, श्वास से पीडि़त 6, सिर दर्द एवं बदन दर्द 179 एवं दस्त के 11 मरीजो का उपचार किया गया ।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned