BSP अस्पतालों में होगी डॉक्टर्स की भर्ती, संविदा कर्मियों का वेतन बढ़ा, दवाईयों की उपलब्धता भी होगी सुनिश्चित

बीएसपी प्रबंधन ने कोरोनो में कार्य करने वाले इंटर्न का वेतन 8500 बढ़ाकर 12000 व संविदा कर्मियों का वेतन 12,000 से बढ़ाकर 15000 रुपए कर दिया है।

By: Dakshi Sahu

Updated: 01 Oct 2020, 05:55 PM IST

भिलाई. बीएसपी प्रबंधन ने कोरोनो में कार्य करने वाले इंटर्न का वेतन 8500 बढ़ाकर 12000 व संविदा कर्मियों का वेतन 12,000 से बढ़ाकर 15000 रुपए कर दिया है। कोविड-19 में कार्य की अधिकता को देखते हुए संविदा अटेंडेंट की संख्या भी बढ़ाकर 48 कर दी गई है। जल्द ही संयंत्र एवं माइंस के अस्पतालों में डॉक्टरों की कमी की पूर्ति के लिए स्थाई एवं संविदा नियुक्ति की जा रही है। पैथालॉजिस्ट की स्थायी भर्ती प्रक्रिया कोरोना के कारण लंबित है। कोविड वार्ड की स्थापना के साथ ही वहां कार्य कर रहे कर्मचारियों की पहचान के लिए उन्हें अलग से यूनिफार्म उपलब्ध करवाया है।

हिंदुस्तान स्टील एंप्लाइज यूनियन सीटू को यह जानकारी प्रबंधन ने दी है। सीटू की अध्यक्ष सविता मालवीय, महासचिव एसपी डे, सचिव संतोष ने अधिशासी निदेशक(कार्मिक एवं प्रशासन) एसके दुबे, महाप्रबंधक प्रभारी(कार्मिक)निशा सोनी और महाप्रबंधक- कार्मिक(औद्योगिक संबंध) सूरज सोनी से चर्चा की।

5 में से 4 सेनिटाइजर मशीन खराब
सेक्टर-9 अस्पताल में 5 में से 4 सेनिटाइजर मशीन खराब हो चुकी है। ग्लब्स, मास्क एवं हैंड वाश भी ख़त्म होते जा रहे हैं। सीटू नेताओं ने कहा कि कर्मचारियों को कोविड-19 से बचाव के लिए पर्याप्त व उच्च गुणवत्ता के ग्लब्स, मास्क, हैंडवाश एवं सेनिटाइजर उपलब्ध करवााएं।

बीमा एवं अनुकंपा नियुक्ति की मांग
यूनियन ने कहा कि चिकित्सा कर्मियों का कोविड-19 से सामाजिक सुरक्षा के लिए जीवन बीमा की पहले ही घोषणा की जा चुकी है किन्तु इसके लिए कोई प्रमाण पत्र जारी नहीं किया गया है। प्रबंधन ने बताया कि कर्मचारियों की बीमा व आश्रित को अनुकंपा नियुक्ति का मामला कॉर्पोरेट को भेज दिया गया है।

दवाइयों की उपलब्धता हो
कोविड -19 केंद्र में कार्य करनेे वाले चिकित्सा कर्मचारियों को प्रतिरोधक क्षमता विकसित करने वाली दवाइयां तक अब दी नहीं गई। पता चला है कि एक हजार दवाइयां आकर खत्म भी हो गई है। पैथालॉजिस्ट, फार्मासिस्ट एवं डाटा एंट्री करने वाले स्टाफ को भी क्वारंटाइन की सुविधा भिलाई निवास में मिलनी चाहिए। जगह के अभाव में इन कर्मचारियों को अस्पताल में उपलब्ध केबिन में क्वारंटाइन की सुविधा दी जा सकती है।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned