सुबह चार बजे अंबिकापुर केंद्रीय जेल पहुंचा गैंगस्टर तपन

सुबह चार बजे अंबिकापुर केंद्रीय जेल पहुंचा गैंगस्टर तपन

Satya Narayan Shukla | Publish: Jul, 13 2018 05:12:58 PM (IST) Bhilai, Chhattisgarh, India

गैंगस्टर तपन सरकार को लेकर गई पुलिस ने अंबिकापुर केंद्रीय जेल में तड़के साढ़े चार बजे आमद दी।

भिलाई. गैंगस्टर तपन सरकार को लेकर गई पुलिस ने अंबिकापुर केंद्रीय जेल में तड़के साढ़े चार बजे आमद दी। गैंगस्टर तपन को केंद्रीय जेल दुर्ग से अंबिकापुर जेल में शिफ्ट किया गया है। उसे वहां विशेष निगरानी में रखा गया है। राज्य के गृह एवं जले विभाग के निर्देश पर अंबिकापुर शिफ्ट किए गए गैंगस्टर तपन को लेकर वहां के जेल प्रबंधन ने सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए मौन साध लिया है।
बता दें कि डीजी जेल गिरधारी नायक ने बुधवार को सजायाफ्ता बंदी तपन के अंबिकापुर कैंद्रीय जेल के लिए रिलिविंग ऑर्डर जारी किए थे।

दबंगई के बल पर जेल के अंदर से उगाही

गुरुवार की शाम दुर्ग केंद्रीय जेल से गैंगस्टर तपन को अंबिकापुर सेंट्रल जेल के लिए रवाना किया गया था। उस पर हत्या, मारपीट और अपनी दबंगई के बल पर जेल के अंदर से उगाही कर रहा था। इसके खिलाफ कई गंभीर अपराध है। उसके एक साथी सतीश चंद्राकर ने उसके खिलाफ 25 लाख रुपए उगाही और शासकीय बंधकशुदा जमीन को बेचने के लिए अनुबंध करने की शिकायत दुर्ग कोतवाली और सुपेला थाने में की है। दोनों मामले में पुलिस ने अपराध दर्ज किया। दुर्ग रेंज महानिरीक्षक जीपी सिंह ने जांच के लिए अलग से एक टीम एसआइयू बनाई है। इस टीम की जांच में जेल के भीतर गैंगस्टर की चल रही हूकुमत का भंडाफोड़ हुआ था।

आदेश को साढ़े तीन माह से दबाए रखा

गैंगस्टर तपन सरकार उर्फ अभिताभ सरकार को जेल मुख्यालय ने २३ अप्रेल को अंबिकापुर सेंट्रल जेल में स्थानांतरित करने का आदेश दिया गया था, लेकिन दुर्ग केद्रीय जेल प्रबंधन ने आदेश को साढ़े तीन माह से दबाए रखा था। गैंगस्टर के दबाव में आकर जेल प्रशासन ने उसे शिफ्ट नहीं किया। जब पुलिस की जांच में यह खुलासा हुआ कि जेल के अंदर से वह पूरा गैंग चला रहा है, तब जेल प्रशासन हरकत में आया और उसे आनन फानन में शिफ्ट किया गया।

Ad Block is Banned