24 गांवों में पानी पहुंचाने लोग बहाएंगे पसीना, बूंद-बूंद बचाने तय करें अपनी जिम्मेदारी

24 गांवों में पानी पहुंचाने लोग बहाएंगे पसीना, बूंद-बूंद बचाने तय करें अपनी जिम्मेदारी

Satyanarayan Shukla | Updated: 18 May 2019, 11:17:21 PM (IST) Bhilai, Durg, Chhattisgarh, India

जल चाहे बरसाती हो, नदी-तालाबों का या फिर भूजल। जल की एक- एक बूंद कीमती है और इसे बचाना जरूरी है। जल संरक्षण के लिए पत्रिका समूह लंबे समय से अमृतं जलम् अभियान चलाते आ रहा है। पत्रिका के सामाजिक सरोकारों के तहत इस बार भी पार्परिक जलस्रोतों के गहरीकरण, संरक्षण और जीर्णोद्धार के कार्य किए जाएंगे।

राजनांदगांव@Patrika. जल चाहे बरसाती हो, नदी-तालाबों का या फिर भूजल। जल की एक- एक बूंद कीमती है और इसे बचाना जरूरी है। जल संरक्षण के लिए पत्रिका समूह लंबे समय से अमृतं जलम् अभियान चलाते आ रहा है। पत्रिका के सामाजिक सरोकारों के तहत इस बार भी पार्परिक जलस्रोतों के गहरीकरण, संरक्षण और जीर्णोद्धार के कार्य किए जाएंगे।

शिवनाथ नदी में जुटेंगे हर वर्ग के लोग
अमृतं जलम अभियान के अंतर्गत पत्रिका समूह द्वारा रविवार को सुबह ईरा स्थित शिवनाथ नदी में सफाई अभियान चलाया जाएगा। अभियान में क्षेत्र के ग्रामीण, जनप्रतिनिधि, युवा, जिला प्रशासन के अधिकारी-कर्मचारी अपनी सहभागिता निभाएंगे। पत्रिका द्वारा यह कदम सामाजिक सरोकार के तहत की जा रही है। ईरा शिवनाथ नदी से समूह नल जल योजना के तहत 28 करोड़ की लागत से सोमनी क्षेत्र के 24 गांवों में पेयजल पहुंचाने की योजना शुरु की गई है, लेकिन एनीकट सिल्ट से पूरा भरा हुआ है।

 

Patrika

योजना हो सकती है फेल
इसके अलावा नदी में भी लेबल से कहीं अधिक रेत भरा हुआ है। इसकी वजह से पानी स्टोरेज होने के बजाय बह जाता है और नदी पूरी तरह सूख गया है। ऐसी स्थिति में बिना सफाई के 24 गांवों में पानी पहुंचाने की योजना पर ग्रहण लग सकता है। इस मामले को लेकर पत्रिका लगातार खबर प्रकाशन कर जिला प्रशासन को समस्या से अवगत भी करा चुका है। वहीं क्षेत्र के ग्रामीण व जनप्रतिनिधि भी नदी की सफाई को लेकर कलक्टर को ज्ञापन सौंप चुके हैं। पत्रिका अब अमृतं जलम अभियान के तहत रविवार को क्षेत्र के ग्रामीणों व जनप्रतिनिधियों के सहयोग से नदी की सफाई का आगाज कर रही है। इस अभियान में बड़ी संख्या में ग्रामीण अपनी सहभागिता निभाने मौजूद रहेंगे।

बूढ़ा सागर की सफाई में भी पत्रिका आगे
इससे पहले भी पत्रिका समूह द्वारा राजनांदगांव शहर के एतिहासिक धरोहर बूढ़ा सागर तालाब में भी पिछले साल लगातार सफाई अभियान चलाया गया था। पत्रिका के इस अभियान में शहर के समाजिक संस्था, जिला प्रशासन के अधिकारी-कर्मचारी, जनप्रतिनिधि व अन्य लोगों ने बढ़-चढ़ कर अपनी सहभागिता निभाई थी। इस दौरान पत्रिका के अभियान के तहत बूढ़ा सागर से जलकुंभी निकालने, तालाब की सफाई और पानी को शुद्व करने दवाई का छिड़काव भी किया गया था।

 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned