चुनाव आए तो याद आई बेटियों की साइकिलें, पांच माह पहले जुलाई में ही वितरित होंगी

चुनाव आए तो याद आई बेटियों की साइकिलें,  पांच माह पहले जुलाई में ही वितरित होंगी

Tej Narayan Sharma | Publish: Jun, 14 2018 04:03:58 PM (IST) Bhilwara, Rajasthan, India

राज्य सरकार चुनावी मॉड में आ गई है

भीलवाड़ा।

राज्य सरकार चुनावी मॉड में आ गई है। विधानसभा चुनाव से पहले अपनी योजनाओं को अमलीजामा पहनाने में कोर-कसर नहीं छोडऩा चाह रही है। जिले में 9वीं की छात्राओं को जो साइकिलें, दीपावली की छुट्टियों के बाद नि:शुल्क बंटनी थी, उसे सरकार इस सत्र पांच माह पहले जुलाई में ही वितरित करने जा रही है।

 

विभाग हर बार साइकिलों का प्रस्ताव अगस्त से मांगता है लेकिन इस बार जून के पहले सप्ताह में प्रस्ताव मांग लिया। बुधवार को माध्यमिक शिक्षा विभाग कार्यालय के बरामदे में खड़ी भगवा रंग की साइकिल को देखकर पता चलता है कि बेटियों को निशुल्क साइकिल इस बार जल्दी मिलेगी।


जानकार कहते हैं कि विधानसभा चुनाव के लेकर अक्टूबर में आचार संहित लागू होगी। इसके चलते जनप्रतिनिधि स्कूलों में बालिकाओं को साइकिल वितरित नहीं कर पाएंगे। इसका फायदा जिले कि बेटियों को भी मिलेगा।


गत वर्ष अगस्त में साइकिलों का प्रस्ताव भेजा था। ९वीं कक्षा की बालिकाओं को नवंबर-दिसंबर में साइकिलें बांटी गई। वर्ष 2016 में अद्र्धवार्षिक परीक्षा के बाद साइकिलें दी। इस बार साइकिलों का टेंडर वैशाली 'जेएमडीÓ कंपनी को दिया है। जून में ही मांग ली गई। कंपनी ने बतौर सैंपल बुधवार को एक साइकिल माध्यमिक शिक्षा कार्यालय को भेजी है।

7900 साइकिलों का प्रस्ताव भेजा
जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक कार्यालय से इस बार भीलवाड़ा जिले के लिए 7900 साइकिलों की संभावित सूची भेजी है। गत वर्ष यह संख्या 7180 थी। इस बार बेटियों के बढ़ते नामांकन को देखते हुए कार्यालय से 10 फीसदी बढ़ाकर करीब 7900

7900 साइकिलों का प्रस्ताव भेजा
जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक कार्यालय से इस बार भीलवाड़ा जिले के लिए 7900 साइकिलों की संभावित सूची भेजी है। गत वर्ष यह संख्या 7180 थी। इस बार बेटियों के बढ़ते नामांकन को देखते हुए कार्यालय से 10 फीसदी बढ़ाकर करीब 7900


आने-जाने में रहेगी आसानी
इस बार दस फीसदी बढ़ाकर ७,९०० साइकिलों की संभावित सूची भेजी है। बालिकाओं को सत्र के शुरुआत में ही साइकिलें मिल जाती है, तो उन्हें स्कूल आने-जाने में आसानी रहेगी।
डॉ. शंकरलाल माली, एडीइओ माध्यमिक (प्रथम), भीलवाड़ा

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned