भीलवाड़ा का कांदा गांव होगा देश-प्रदेश का गैस जंक्शन, दीपावली तक जिंक को पाइप लाइन से गैस आपूर्ति

भीलवाड़ा का कांदा गांव होगा देश-प्रदेश का गैस जंक्शन, दीपावली तक जिंक को पाइप लाइन से गैस आपूर्ति
Kanda village gas junction in bhilwara

Jai Prakash Singh | Updated: 20 Aug 2019, 06:06:13 AM (IST) Bhilwara, Bhilwara, Rajasthan, India

Kanda village gas junction वह दिन दूर नहीं, जब वस्त्रनगरी में पाइप लाइन से नेचुरल गैस की आपूर्ति होने लगेगी

 

सुरेश जैन. भीलवाड़ा।

Kanda village gas junction वह दिन दूर नहीं, जब वस्त्रनगरी में पाइप लाइन से नेचुरल गैस की आपूर्ति होने लगेगी। पानी की एक-एक बंूद को तरसते लोगों को जिस तरह चम्बल से पाइपलाइन के जरिए बड़ी राहत मिली, ठीक उसी तरह अब गैस की आपूर्ति होगी। हालांकि पहले औद्योगिक इकाइयों को गैस की आपूर्ति की जाएगी। इसके बाद घरों में भी रसोई गैस की आपूर्ति की जाएगी। जिले की सुवाणा पंचायत समिति के कांदा गांव से भीलवाड़ा शहर तक 38 किलोमीटर लम्बी पाइपलाइन बिछाने का कार्य शुरू हो गया है। कोटा से कांदा एवं चित्तौडग़ढ़ तक पहले ही पाइप लाइन बिछ चुकी है।

 

आने वाले समय में कांदा गांव देश-प्रदेश की गैस पाइप लाइनों का जंक्शन बनेगा। इसके लिए पेट्रोलियम एवं गैस नियामक आयोग ने कानूनी सुझाव भी मांगे हैं। एक पाइपलाइन लांगटला (जैसलमेर) से कांदा तक 580 किलोमीटर डाली जाएगी। कोटा-भीलवाड़ा गैस पाइप लाइन का स्टेशन यहां पहले ही बन चुका है। मेहसाणा (गुजरात) से भटिंडा (पंजाब) तक गैस पाइपलाइन भी कांदा होकर प्रस्तावित है।

 

भीलवाड़ा के लिए 12 इंच की लाइन

Kanda village gas junction कांदा से भीलवाड़ा तक 38 किलोमीटर गैस पाइप लाइन का काम पिछले सप्ताह शुरू हो गया। वहां पूजा-अर्चना के दौरान गेल इंडिया व अडानी ग्रुप के अधिकारी उपस्थित थे। अडानी ग्रुप के अधिकारियों का कहना है कि 12 इंच की पहली पाइपलाइन कांदा से मानसरोवर (भीलवाड़ा) तक डाली जाएगी। दिल्ली की एएन गैस कम्पनी यह कार्य चार चरण में पूरी करेगी। साथ ही एक और पाइपलाइन डाली जाएगी। इसका नक्शा पास होना बाकी है।

 

शुरू हो गया काम

कांदा-भीलवाड़ा पाइप का काम शुरू कर दिया है। इसके लिए 20 कर्मचारी काम कर रहे हैं।

कमलजीत सिंह, एएन गैस कम्पनी, दिल्ली

 

चित्तौडग़ढ़ में तैयारियां अंतिम चरण में

- कांदा-चित्तौडग़ढ़ लाइन तैयार

- अगले माह होगा पूरा

दीपावली से पहले चित्तौडग़ढ़ स्थित हिन्दुस्तान जिंक प्लांट को नैचुरल गैस की आपूर्ति शुरू कर दी जाएगी। गेल इंडिया की ओर से दो किलोमीटर लम्बी पाइपलाइन का काम अन्तिम चरण में है। गेल की ओर से कोटा-कांदा-चित्तौडग़ढ़ तक 170 किलोमीटर लम्बी गैस पाइपलाइन तैयार है। गेल ने कांदा को टर्मिनल पॉइंट बनाया है। चित्तौडग़ढ़ में रीको एरिया में गेल कार्यालय से जिंक प्लांट तक दो किलोमीटर पाइप लाइन डाली जा रही है। अब तक 1.70 किलोमीटर का काम पूरा हो चुका है। शेष अगले माह हो जाएगा। प्रारम्भिक तौर पर दीपावली के आसपास आपूर्ति की जाएगी।

 

दीपावली तक आपूर्ति

Kanda village gas junction जिंक में दीपावली तक आपूर्ति शुरू हो जाएगी। अडानी ग्रुप ने भी कांदा से भीलवाड़ा पाइपडालने का काम शुरू कर दिया है। पाइप लाइन को टर्मिनल प्वॉइंट से जोडऩे के लिए 800 मीटर नई पाइप लाइन अलग से डाली जाएगी।
अशोककुमार खटीक, वरिष्ठ प्रबन्धक, गेल इंडिया (पाइप लाइन)

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned