अब तो निरक्षर भी चलेगा

निरक्षर भी लड़ सकेंगे सरपंच का चुनाव
उम्मीदवार प्रचार पर खर्च कर सकेंगे 50 हजार
पहले यह सीमा 20 हजार रुपए थी

भीलवाड़ा।
Election Commission निर्वाचन आयोग ने सरपंच पद के उम्मीदवारों के लिए चुनाव प्रचार खर्च की सीमा बढ़ाई है। सरपंच पद के उम्मीदवार प्रचार पर 20 हजार की जगह 50 हजार रुपए खर्च कर सकेंगे। अब निरक्षर भी सरपंच बन सकेंगे। गत भाजपा सरकार की ओर से लागू शैक्षणिक योग्यता की शर्त को कांग्रेस सरकार हटा चुकी है।

Election Commission जिला परिषद सदस्य का उम्मीदवार चुनाव प्रचार पर डेढ़ लाख और पंचायत समिति सदस्य के लिए 75 हजार रुपए तक खर्च कर सकेंगे। प्रत्याशी को चुनाव प्रचार खर्च का ब्यौरा परिणाम घोषणा के 15 दिन में संबंधित जिला निर्वाचन अधिकारी या उसकी ओर से प्राधिकृत अधिकारी के समक्ष प्रस्तुत करना होगा। पंचायत चुनाव को लेकर जिलेभर में तैयारियां शुरू हो चुकी हैं। सरपंच का चुनाव लडऩे को लेकर इच्छुक व्यक्तियों के नाम सामने आने लगे हैं। फिलहाल सोशल मीडिया पर पंचायतों में दावेदारी की खबरें, दावे चल रहे हैं।
प्रचार खर्च सीमा का गणित
चुनाव पहले अब
जिला परिषद सदस्य 80 हजार 1.50 लाख
पंस सदस्य 40 हजार 75 हजार
सरपंच 20 हजार 50 हजार

Suresh Jain Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned