scriptNow no one will be able to buy junk e-waste | E-WASTE iN Bhilwara: अब कोई भी कबाड़ी ई-वेस्ट नहीं खरीद सकेंगे | Patrika News

E-WASTE iN Bhilwara: अब कोई भी कबाड़ी ई-वेस्ट नहीं खरीद सकेंगे

सरकार ने तय किए डीलर, ई-वेस्ट उन्हें ही बैंच सकेंगे

भीलवाड़ा

Updated: January 16, 2022 01:40:36 pm

E-WASTE IN Bhilwara: भीलवाड़ा जिले में कोई भी व्यक्ति किसी भी कबाड़ी को ई-वेस्ट न तो बेच सकेगा और न कबाड़ी उसे खरीद सकेगा। राज्य सरकार ने ई वेस्ट कलेक्शन के लिए अधिकृत डीलर तय किए हैं। इसके लिए राजस्थान राज्य प्रदूषण नियंत्रण मंडल ने अधिसूचना जारी करने की है। घरों में पड़े ई-वेस्ट को एकत्रित करने के लिए सरकार अभियान चलाएगी। खराब कंप्यूटर, प्रिंटर, मोबाइल, माऊस, फ्रिज, एसी, वॉशिंग मशीन, लेपटॉप, तार, खराब ट्यूबलाइट आदि का निस्तारण वैज्ञानिक तरीके से होना जरूरी है ताकि इसके निस्तारण से पर्यावरण को नुकसान न पहुंचे।
E-WASTE iIN Bhilwara: अब कोई भी कबाड़ी ई-वेस्ट नहीं खरीद सकेंगे
E-WASTE iIN Bhilwara: अब कोई भी कबाड़ी ई-वेस्ट नहीं खरीद सकेंगे
इसकी शुरुआत वर्ष 2011 में हो गई थी, पर वो योजना सिरे नहीं चढ़ पाई। कुछ बदलाव कर 2016 में इसे पुन: लाया गया। हालांकि भीलवाड़ा में एक भी अधिकृत डीलर नहीं है लेकिन प्रदेश में लगभग 40 से अधिक अधिकृत डीलर तय किए गए जो वैज्ञानिक तरीके से ई वेस्ट का डिस्पोजल करते हैं। सरकार भी ई वेस्ट निशुल्क न लेते हुए प्रतिकिलो के भाव से लेगी। इसके लिए हर जिला स्तर पर अभियान भी चलाया था। भीलवाड़ा जिले से लगभग एक हजार टन से अधिक का ई-वेस्ट एकत्रित किया गया था।
ज्यादा ई-वेस्ट पैदा करने वालों पर ध्यान
सरकार ऐसे संस्थाओं, कंपनियों और विभागों पर ध्यान केंद्रित कर रही है जहां कफी ज्यादा मात्रा में ई-वेस्ट पैदा हो रहा है। इसमें केंद्र व राज्य सरकार के विभाग, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम, बहुराष्ट्रीय संगठन, सार्वजनिक, भागीदारी, प्राइवेट कंपनी, शैक्षणिक संस्थान और अस्पताल शामिल हैं। यहां से एक साथ बड़ी मात्रा में ई-वेस्ट मिल सकता है।
हर साल निकलता है लाखों टन
कबाड़ी या स्थानीय स्तर पर ई-वेस्ट ले जाने वाले बिना किसी ठोस तरीके से और बिना सुरक्षा उपाय अपनाए इसका निस्तारण करते हैं। कलपुर्जे एकत्रित करते हैं और अलग-अलग करते हैं। इससे पर्यावरण को तो नुकसान होता ही है साथ ही निस्तारण करने वाले व्यक्तियों को भी स्वास्थ्य से जुड़ी बीमारियां हो सकती हैं। इसलिए ई-वेस्ट का सही तरीके से निस्तारण हो। प्रदेश में लाखों टन ई-वेस्ट पैदा हो रहा है। उस क्षमता का ई-वेस्ट रिसाइकल करने की क्षमता नहीं है।
जिले में चलाया था अभियान
शहर व जिले में ई-वेस्ट को लेकर पहले अभियान चलाया था।लोगों को जागरूक किया जा रहा है। अस्पतालों व बड़े उद्योगों को इसके बारे में जानकारी दी गई है। अब कबड़ी किसी भी तरह का ई-वेस्ट नहीं खरीद सकेगा। इसके लिए सरकार ने डीलर नियुक्त कर दिए है। वही समय-समय पर आकर ई-वेस्ट एकत्रित करेगा।
महावीर मेहता, क्षेत्रीय अधिकारी, राजस्थान प्रदूषण नियंत्रण मंडल विभाग

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्सयहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतिशुक्र का मेष राशि में गोचर 5 राशि वालों के लिए अपार 'धन लाभ' के बना रहा योगराजस्थान के 16 जिलों में बारिश-आंधी व ओलावृ​ष्टि का अलर्ट, 25 से नौतपाजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथइन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठा7 फुट लंबे भारतीय WWE स्टार Saurav Gurjar की ललकार, कहा- रिंग में मेरी दहाड़ काफीशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफ

बड़ी खबरें

संयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजरबिहार में भीषण सड़क हादसा, पूर्णिया में ट्रक पलटने से 8 लोगों की मौतश्रीनगर पुलिस ने लश्कर के 2 आतंकवादियों को किया गिरफ्तार, भारी संख्या में हथियार बरामदGood News on Inflation: महंगाई पर चौकन्नी हुई मोदी सरकार, पहले बढ़ाई महंगाई, अब करेगी महंगाई से लड़ाईकोरोना वायरस का नहीं टला है खतरा, डेल्टा-ओमिक्रॉन के बाद अब दो नए सब वैरिएंट की दस्तक से बढ़ी चिंताWeather Update: देश के इन राज्यों में बदला मौसम, IMD ने जारी किया आंधी-बारिश का अलर्टManchester City ने Liverpool का तोड़ा सपना, छठी बार EPL का खिताब जीतकर रचा इतिहासप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी टोक्यो पहुंचे, भारतीय प्रवासियों ने किया स्वागत, जापानी बच्चे के हिन्दी बोलने पर गदगद हुए PM
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.