प्राथमिकता क्षेत्र और कमजोर वर्गो को प्राथमिकता से देवे ऋण

डीएलसीसी व डीएलआरसी की ऑनलाइन मीटिंग

By: Suresh Jain

Published: 16 Jun 2021, 08:32 PM IST

भीलवाड़ा।
डीएलसीसी व डीएलआरसी की मीटिंग का ऑनलाइन आयोजन जिला कलक्टर शिवप्रसाद एम नकाते की अध्यक्षता में किया गया। नकाते ने सभी बैंको को प्राथमिकता प्राप्त क्षेत्र और समाज के कमजोर वर्गो जिसमें किसानो, महिलाओ, बेरोजगारो, स्ट्रीट वेंडर्स को सरकार की विभिन्न योजनाओ के माध्यम से ज्यादा से ज्यादा ऋण देने पर जोर दिया। उन्होंने इन्दिरा महिला शक्ति योजना, पीएम स्ट्रीट वेंडर स्कीम, राजस्थान एग्रों पॉलिसी एवं ऑनलाइन लेनदेनों मे होने वाली धोखाधड़ी के प्रति ग्राहको को जागरूक करने पर विस्तार से चर्चा की।
आरबीआई जयपुर के महाप्रबंधक मुकेश कुमार ने बैंको को जमा और ऋण प्रवाह बढ़ाने, वित्तीय साक्षरता, एमएसएमई ऋण बढ़ाने पर बल दिया। आरबीआई एलडीओ राकेश शर्मा ने प्राथमिकता प्राप्त क्षेत्र की नई गाइडलाइन व बीसी कार्यप्रणाली से अवगत कराया। नाबार्ड डीडीएम लोकेश सैनी ने कृषि संबंधित विभिन्न योजनाओ से अवगत कराया। डीआईसी, एससीडीसी, राजीविका, रुडसेट संस्थान के पदाधिकारियों व एफएलसी काउन्सलर ओपी सोमाणी ने विभागीय योजनाओ की जानकारी दी।
अग्रणी जिला प्रबन्धक सोराज मीणा ने जिले के बैंकिंग व्यवसाय की प्रगति बताते हुए वर्ष 2020.21 मे वार्षिक क्रेडिट प्लान में लक्ष्य के विरुद्द 119 प्रतिशत की प्राप्ति हुई है। इससे सभी बैंको एवं विभागो का पूर्ण सहयोग मिला एवं जिले में विभिन्न सरकारी योजनाओं में भी 100 प्रतिशत लक्ष्यो की प्राप्ति पर बैंकों के जिला समन्वयको का आभार प्रकट किया। साथ मे चालू वित्तीय वर्ष के लक्ष्यो को भी दिसम्बर 2021 तिमाही तक पूरा करने को कहा है। बैंक ऑफ बड़ौदा के उप क्षेत्रीय प्रमुख सुरेश खठोड ने आभार व्यक्त किया।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned