चंबल से हो रहे खनन को रोकने रास्ते खुदवाए

सांकरी व ज्ञानपुरा की बीहड़ में रास्तों में जेसीबी मशीन से किए गए गड्ढे
थाना प्रभारी फूप द्वारा चंबल सेंचुरी अधिकारियों को तीन बार लिखे गए अवैध खनन के संबंध में पत्र उपरांत हुई कार्रवाई

फूप. चंबल सेंचुरी टीम ने पुलिस बल को साथ लेकर फूप क्षेत्र के ज्ञानपुरा एवं सांकरी घाट पर बीहड़ में रास्ते खुदवाए। जेसीबी मशीन द्वारा उन रास्तों में गड्ढे किए गए हैं, जहां से माफिया रेत का परिवहन कर रहे थे। यहां बता दें कि माफिया द्वारा चंबल नदी से प्रतिबंधित रेत का खनन किए जाने को लेकर थाना प्रभारी द्वारा बीते एक माह में तीन बार चंबल सेंचुरी अधिकारियों को पत्र भेजे गए थे। तदुपरांत शुक्रवार की दोपहर कार्रवाई को अंजाम दिया गया।


चंबल सेंचुरी के वनपाल सलीम खान, रेंज ऑफिसर दीपक शर्मा एवं वनरक्षक नरेंद्र प्रताप कुशवाह के अलावा फूप थाने से उपनिरीक्षक देवीदीन अनुरागी, एएसआई रघुवीर सिंह, प्रधान आरक्षक अजय गौतम के अलावा एसएएफ के आधा दर्जन से अधिक सशस्त्र जवानों के साथ संयुक्त अमले ने दोपहर करीब 2 बजे ज्ञानपुरा के बीहड़ में उन रास्तों पर जेसीबी मशीन से गड्ढे कराए जहां से माफिया चंबल नदी में खनन कर रेत भरकर ले जा रहे थे। उसके बाद अपराह्न 3:30 बजे सांकरी घाट पर गड्ढे खुदवाए गए।


चंबल में जहां चल रहा दिन-रात खनन वहां फिर भी नहीं की गई कार्रवाई


उल्लेखनीय है कि जिस इलाके में हथियारों के साये में चंबल नदी से दिन-रात खनन किया जा रहा है उस क्षेत्र में चंबल सेंचुरी टीम ने जाने की हिम्मत नहीं की। रानीपुरा के पास इन दिनों रातभर चंबल का रेत खनन कर परिवहन किया जा रहा है। क्षेत्रीय ग्रामीणजनों की मानें तो चंबल नदी से हो रहे खनन में अप्रत्यक्ष रूप से चंबल सेंचुरी के ही अधिकारियों का संरक्षण है। ग्रामीण बताते हैं कि यदि ऐसा नहीं है तो लगातार शिकायतों के बाद भी एक बार भी तत्काल छापामार कार्रवाई क्यों नहीं की गई। जबकि चंबल सेंचुरी के उस क्षेत्र में नियमित रूप से पेट्रोलिंग किए जाने के निर्देश हैं जहां से अवैध रूप से रेत खनन किए जाने की आशंका है। बावजूद इसके महीनों रानीपुरा इलाके में कोई निरीक्षण के लिए नहीं पहुंचता है।

महेंद्र राजोरे Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned