चंबल की चपेट में एक सैकड़ा से ज्यादा गांव, कई गांव से संपर्क टूटा, अलर्ट पर प्रशासन, देखें वीडियो

Faiz Mubarak

Updated: 18 Aug 2019, 05:37:43 PM (IST)

Bhind, Bhind, Madhya Pradesh, India

भिंडः राजस्थान के कोटा बैराज से छोड़े गए पानी से चंबल नदी ने किनारे के एक सैकड़ा से ज्यादा गांव को टापू में तब्दील कर दिया। मुरैना के 89 गांव बाढ़ की चपेट में आ गये तो कई गांवों का संपर्क जिला मुख्यालय से टूट गया है। वहीं, राजस्थान को जोड़ने वाले राजघाट पुल पर चंबल खतरे के निशान को भी पार कर गई है। यही हालत चंबल संभाग के दूसरे जिले भिंड की है जहां चंबल खतरे के निशान से 1.10 मीटर ऊपर बह रही है। जिले के करीब 30 से 35 गांव टापू बन गए हैं।

 

पढ़ें ये खास खबर- Heavy Rain Alert : आफत बरसाने वाली है बारिश, अब तक 75 फीदसी बरसात, मौसम विभाग का रेड अलर्ट जारी

 

बताया जा रहा है कि इससे पहले 2013 में भी चंबल का पानी खतरे के निशान को पार कर गया था। हालांकि, 2013 में कुछ ही गांवों के आसपास पानी भरा था। इसके बाद के सालों में चंबल में इतना पानी नहीं आया। चंबल का पानी चंबल किनारे के खेतों में खड़ी खरीफ की फसलें खराब हो गई हैं। देखें खबर से संबंधित वीडियो...।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned