MP के मंत्री के भतीजे का धारदार हथियार से काटकर मर्डर, सुनसान जगह पर पड़ी मिली लाश

  • वारदात स्थल के पास छुपा हुआ था एक डंडा
  • हत्या के 10 घंटे बाद तक आरोपी नहीं हुए नामजद

By: हुसैन अली

Published: 02 Mar 2021, 12:19 AM IST

भिण्ड. नगरीय प्रशासन राज्यमंत्री ओपीएस भदौरिया के 28 वर्षीय चचेरे भतीजे की अज्ञात लोगों ने धारदार हथियार से काटकर हत्या कर दी। युवक का शव गांव के पास ही सुनसान स्थल पर पड़ा देखा गया। वारदात 28 फरवरी व 01 मार्च की दरमियानी रात की है। पुलिस ने शव को पीएम के लिए भिजवाने के बाद मामले की जांच शुरू कर दी है।

पुलिस के अनुसार मिथुन भदौरिया पुत्र छोटे सिंह भदौरिया निवासी अकलौनी का शव पड़ोसी गांव अछाईं के पास आम मार्ग किनारे पड़ा देखा गया। मृतक मिथुन के गले में दायीं ओर तथा सिर एवं आंख पर बायीं ओर धारदार हथियार से वार किए गए हैं। ग्रामीणों ने जब रास्ते में अलसुबह खून से लथपथ शव पड़ा देखा तो पुलिस को सूचना की गई। मृतक तीन भाइयों में मझला था। पुलिस को वारदात स्थल के पास करब की पूरियों में छिपाकर रखा गया एक डंडा मिला है। वारदात के 10 घंटे बाद तक हत्या के आरोपी नामजद नहीं हो पाए थे। पुलिस यह भी स्पष्ट नहीं कर पाई है कि हत्या के पीछे हमलावरों का क्या मकसद रहा और कितने लोगों ने वारदात को अंजाम दिया।

अछाईं गांव के आम रास्ते पर पड़े मिले मिथुन भदौरिया के शव को पुलिस ने पीएम के लिए भिजवाने के बाद जब ग्रामीणों वारदात के संबंध में जानकारी लेनी चाही तो वह मूक स्थिति में नजर आए। पुलिस के ज्यादा पूछने पर एक-दो ग्रामीणों ने बताया कि रात ज्यादा होने के कारण वह गहरी नींद में थे। लिहाजा उन्होंने किसी के चीखने की आवाज नहीं सुनी। पुलिस महिला से संबंध का एंगल भी टटोल रही है।

बता दें कि मृतक मिथुन सिंह नगरीय प्रशासन राज्यमंत्री ओपीएस भदौरिया का चचेरा भतीजा था। मृतक के बड़े और छोटे भाई की शादी हो चुकी है जबकि वह मझला होने के बावजूद अविवाहित था। परिजनों के अनुसार परिवार के प्रति कम जिम्मेदार होने के कारण उसका विवाह नहीं कराया था। वह अकसर रात में उठकर गांव में चला जाया करता था। ऐसे में वारदात वाली रात जब वह उठकर गया तो परिवार के किसी भी व्यक्ति को यह आभास नहीं था कि उसके साथ हत्या जैसी वारदात हो सकती है। जब कोई हमलावर लाठी या डंडे से भी हमला करता है तो चीख और चिल्लाहट होने लगती है। हैरानी की बात ये है कि मिथुन के शरीर पर धारदार हथियार से वार किए गए और उसके चीखने और चिल्लाने की आवाज किसी ने नहीं सुनी।

उसके शरीर पर धारदार हथियार से कुल तीन वार किए गए। पहला गरदन पर दायीं ओर, दूसरा सिर में बायीं तरफ तथा तीसरा भी बायीं तरफ आंख पर किया गया। जाहिर सी बात है कि मृतक न सिर्फ चिल्लाया होगा बल्कि ग्रामीणों से मदद भी मांगी होगी। मौका-ए-वारदात पर जब डॉग स्क्वाड पहुंचा तो वह गांव की ओर नहीं गया और ना ही किसी के घर की ओर रुख किया। घटनास्थल से करीब डेढ़ किमी दूर मठी माता मंदिर पहुंचकर थमा। ऐसे में पुलिस का कयास है कि वारदात के बाद हमलावर मठी माता मंदिर पहुंचे हैं। हालांकि मंदिर पर पुलिस को ०१ मार्च की सुबह तफ्तीश के दौरान कोई भी नहीं मिला था।

खून से सना डंडा मिला पर हथियार नहीं

ह मलावरों द्वारा वारदात में उपयोग किया गया डंडा पुलिस को मिल गया है। लाश के पास ही स्थित करब की पूरियों में छिपाकर रखे गए डंडे को पुलिस ने बरामद कर लिया है जबकि धारदार हथियार पुलिस को नहीं मिल पाया है। इसके अलावा पुलिस को मौके से अन्य कोई भी ऐसा सुराग नहीं मिला है जिसके आधार पर आरोपियों तक पहुंचा जा सके।

राह आसान करेगी कॉल डिटेल

मिथुन आधी रात में उठकर गया था या उसे किसी ने कॉल कर बुलाया था यह कॉल डिटेल से स्पष्ट होगा। बहरहाल पुलिस ने अछाईं गांव की एक महिला तथा उसके बेटे को संदेह के आधार पर पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। पुलिस को आशंका है कि मृतक से किसी की पुरानी दुश्मनी नहीं थी। लिहाजा उसकी हत्या के पीछे किसी महिला से नाजायज संबंध का एंगल टटोला जा रहा है।

हत्या की सनसनीखेज वारदात के बाद मामले को विवेचना में लिया गया है। हम शीघ्र ही आरोपियों को नामजद कर गिरफ्तार कर लेंगे।
मनोज कुमार सिंह, एसपी भिण्ड

हुसैन अली
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned