फूप अस्पताल में शुरू हुई कोरोना संदिग्धों की सैंपलिंग

कोरोना सैंपलिंग करने वाला प्रदेश का पहला प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बना फूप

भिण्ड. प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र फूप में कोरोना संदिग्धों की सैंपलिंग की शुरुआत बुधवार से हो गई है। कोविड-19 की सैंपलिंग करने वाला यह प्रदेश का पहला प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बन गया है। बुधवार को देश के हॉटस्पॉट क्षेत्रों से आने वाले 10 संदिग्धों के सैंपल लिए गए तथा सभी को क्वॉरंटीन किया गया है। सैंपलिंग की पूरी प्रक्रिया के दौरान बीएमओ डॉ. डीके शर्मा, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. देवेश शर्मा, तहसीलदार अमित दुबे, डॉ. वरुण शर्मा तथा विजेंद्र तोमर लैब टेक्निशियन मौजूद रहे। बीएमओ ने बताया कि उप्र की सीमा से प्रतिदिन सैंकड़ों की संख्या में लोग आ रहे हैं। अभी तक इनको सैंपलिंग के लिए जिला अस्पताल भेजा जाता था जिससे परेशानी का सामना करना पड़ता था। लेकिन यह सुविधा अब फूप में ही मिलने लगी है। जिससे काफी राहत मिलेगी। पर्याप्त संख्या में पीपीईकिट उपलब्ध कराई गई है। उन्होंंने अपील की कि कोरोना से लडऩे की कोई दवा नहीं लेकिन हम इसे सोसल डिस्टेेंसिंग, बार बार हाथ धोने, किसी के संपर्क में आने जैसी सावधानियां अपनाकर बच सकते हैं।

महेंद्र राजोरे Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned