'आशा' और 'आंगनवाड़ी' कार्यकर्ताओं को चुनाव से ठीक पहले मिली खास सौगात, अब ये होगा मानदेय

'आशा' और 'आंगनवाड़ी' कार्यकर्ताओं को चुनाव से ठीक पहले मिली खास सौगात, अब ये होगा मानदेय

Deepesh Tiwari | Publish: Sep, 12 2018 03:34:52 PM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

भोपाल में कार्यकर्ताओं ने कही ये खास बात...

भोपाल। मध्यप्रदेश में होने वाले चुनावों से ठीक पहले आंगनवाड़ी और आशा कार्यकर्ताओं को एक खास तोहफा मिला है। इसमें सबसे खास बात ये है कि इस तोहफे की घोषणा राज्य सरकार की बजाया सीधे पीएम मोदी की ओर से की गई है।

दरअसल मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल सहित विभिन्न जिलों व राज्यों में केन्द्र सरकार की पहल पर पूरे आंगनवाड़ी स्तर तक पोषण माह का आयोजन किया गया।

इस मौके पर पोषण को जनआंदोलन बनाने की प्रतिबद्धता के परिणाम स्वरूप पीएम मोदी ने देशभर की आंगनवाड़ी और आशा कार्यकर्ताओं से सीधा संवाद किया। वहीं इस दौरान उन्होंने कार्यकर्ताओं का मानदेय बढ़ाने का ऐलान भी किया।

वहीं ये सूचना सामने आने के साथ ही कार्यकर्ताओं ने इसे एक अच्छा कदम बताते हुए इसकी सराहना की है। इस संबंध में जब भोपाल की कार्यकर्ताओं से बातचीत की गई तो उनका कहना था कि हम वैसे ही काफी दिक्कतों में चल रहे हैं, इसी के चलते हमने पहले भी आंदोलन किया था, लेकिन तब सरकार ने ज्यादा कुछ नहीं किया।

अब पीएम मोदी के इस ऐलान ने हमें कुछ हद तक तो राहत दी, पर हम अब भी पूरी तरह से संतुष्ट नहीं हैं।

हमें इससे थोड़ी तो राहत मिलेगी, पर पूरी खुशी नहीं मानदेय में केवल 1500रु. बढ़ना हमारी समस्याओं को पूरी तरह से खत्म नहीं करेगा।
- उषा चौधरी, आगनवाड़ी कार्यकर्ता बाबानगर भोपाल

हमारी लंबे समय से मानदेय को लेकर मांग चल रही है। लेकिन राज्य सरकार सुनने को तैयार नहीं थी। अब केंद्र की ओर से हुई इस घोषणा ने हमें काफी हद तक राहत देने का काम किया है।

- अभिलाषा श्रीवास्तव, आगनवाड़ी कार्यकर्ता कोलार भोपाल

पीएम मोदी की ये घोषणा कार्यकर्ताओं को काफी राहत देगी। कार्यकर्ता अपने मानदेय के चलते मुश्किलों में चल रहे थे। मोदी जी की ये घोषणा उनके लिए काफी मददगार सिद्ध होगी।

- नीलम पटेरिया, परियोजना अधिकारी, महिला बाल विकास भोपाल

हां कुछ हद तक अच्छा तो लगा, लेकिन मानदेय और बढ़ना चाहिए था। इतनी कम वृद्धि हमारी सारी समस्याओं को हल नहीं कर सकती।
- नेहा सेन, आगनवाड़ी कार्यकर्ता, कोलार भोपाल


ये है मामला...
दरअसल पीएम मोदी ने मिशन इंद्रधनुष के तहत मप्र के पन्ना जिले की आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं से बात करते हुए उनके कामकाज के बारे में जानकारी ली।

वहीं कार्यकर्ताओं ने भी पीएम मोदी के सवालों का जवाब बढ़-चढ़ कर दिया। यहीं पीएम मोदी ने कार्यकर्ताओं का मानदेय बढ़ाने का ऐलान भी किया। इस दौरान आंगनवाड़ी और आशा कार्यकर्ताओं ने इस ऐलान के लिए पीएम मोदी को बधाई भी दी।

किसका कितना बढ़ा मानदेय...
इस मौेके पर पीएम मोदी ने कार्यकर्ताओं को बड़ी सौगात दी है। मोदी ने केंद्र सरकार की तरफ से आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को मिलने वाले मनदेय को बढ़ाने का फैसला किया गया है, जिन्हें अभी 3000 रुपये का मानदेय मिलता था, उन्हें अब 4500 रुपये मिलेगा।

प्रधानमंत्री ने बताया कि जिन आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं का मानदेय 2250 रुपये था, उन्हें अब 3500 रुपये मिलेगा। आंगनवाड़ी सहायिकाओं को 1500 रुपये के स्थान पर 2200 रुपये मिलेंगे । यह बढ़ा हुआ मानदेय अलगे माह से लागू होगा। ज्ञात हो कि अब करीब 14 लाख (2013 के आंकड़ों गणना के मुताबिक) आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को इससे सीधा लाभ मिलेगा।

कार्यकर्ता ने दी मोबाइल एप की जानकारी...
वहीं इस दौरान पन्ना की एक आंगनवाड़ी कार्यकर्ता ने अपने संवाद में पीएम को मोबाइल एप की जानकारी दी।

प्रजापति ने बताया कि सरकार की योजनाओं के माध्यम से आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के पास अब एक ऐसा एप मौजूद है, जिसमें किसी बच्चे का वजन डालते ही उसके कुपोषण या सुपोषण की जानकारी आसानी से मिल जाती है। साथ ही बच्चे के माता-पिता को भी रजिस्टर्ड मोबाइल पर मैसेज के माध्यम से संपूर्ण जानकारी हासिल हो जाती है।

Ad Block is Banned