कोविड अस्पतालों की कुंडली तैयार करने के आदेश, कमलनाथ ने उठाये थे सवाल

कमलनाथ ने कोविड सेंटर को लेकर उठाये थे सवाल, आयुक्त स्वास्थ्य विभाग ने सभी संभागायुक्त को पत्र जारी कर कोविड अस्पतालों की कुंडली तैयार करने के दिये आदेश

By: Hitendra Sharma

Published: 02 Sep 2020, 07:35 PM IST

भोपाल. मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों को इलाज और स्वास्थ्य सुविधा को लेकर उठ रहे सवालों के बीच सरकार ने नया आदेश जारी कर राज्य में कार्यरत सभी कोविड अस्पतालों का नियमित निरीक्षण करने की बात कही है। आयुक्त, स्वास्थ्य विभाग ने सभी संभागायुक्त को पत्र जारी कर कोविड के लिए आरक्षित और अधिकृत किए गए सभी अस्पतालों का लागातर निरीक्षण कराने के निर्देश जारी किए हैं साथ आइसीएमआर की गाइड लाइन के अनुसार इलाज कराए जाने की बात कही है।

कमलनाथ ने उठाये थे सवाल
पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कोविड सेंटर पर सवाल उठाते हुए कहा था कि कोविड की महामारी के लिए चिन्हित किया गया चिरायु हॉस्पिटल में आम लोगों के साथ ज्यादती की जा रही है । उपचार में गंभीर लापरवाही भी बरती जा रही है । कमल नाथ ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार को बताना चाहिए कि क्यों सरकारी कोविड हॉस्पिटल और केयर सेंटर खाली रहे और चिरायु जैसे हॉस्पिटल में कोविड के मरीजों को भर्ती किया जाता रहा, जहाँ मनमाने तरीके से उपचार के नाम पर नागरिकों की गाढ़ी कमाई और सरकारी खजाने पर डाका डाला गया।

अस्पतालों की बनेगी कुंडली
आयुक्त, स्वास्थ्य विभाग ने आदेश जारी कर सभी संभागायुक्त को निर्देश दिये है कि द्वारा कोविड-19 उपचार प्रबंधन द्वारा चिन्हित अस्पतालों को कोविड केयर सेंटर, डेडीकेटेड कोविड केयर सेंटर तथा डेडीकेटेड केाविड अस्पताल को उपचार के लिये अधिकृत किया गया है। चिकित्सालयों में कोविड-19 उपचार हेतु गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवायें को निर्धारित मानकों के अनुरूप प्रदान की जाना अपेक्षित है। इन चिकित्सालयों में प्रदायित स्वास्थ्य सेवायें तथा उपचार व्यवस्था के लिये चेक लिस्ट निर्धारित की गई है।

सभी संभाग से मांगी रिपोर्ट
नये आदेश के अनुसार डेडीकेटेड केाविड अस्पताल के निरीक्षण के लिये मेडिकल कॉलेज तथा संभागीय क्षेत्रीय संचालक कायार्लय में कार्यरत अधिकारियों को नामांकित अधिकारियों द्वारा प्रपत्र अनुसार आइसोलेशन, ऑक्सीजन सर्पोटेड, आईसीयू तथा वेन्टीलेटर युक्त बिस्तरों की जानकारी ली जायेगी। संस्था की सामान्य जानकारी की अतिरिक्त विशेष रूप से आधारभूत संरचना, औषधियों की उपलब्धता, सर्पोट सर्विसेस, इन्फेक्शन प्रीवेन्शन की स्थिति, मानव संसाधन, क्षमता संवर्धन, प्रोटोकॉल तथा फ्लोचार्ट की उपलब्धता, डाटा मेनेजमेंट तथा रिर्पोटिंग के विषय में दिये गये पत्रक में अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत कराई जायें।

Show More
Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned