भेल उपभोक्ता भंडार समिति चुनाव: 8089 सदस्यों मे से 2000 रेगुलर कर्मी

भेल उपभोक्ता भंडार समिति चुनाव: 8089 सदस्यों मे से 2000 रेगुलर कर्मी

Sunil Mishra | Publish: Mar, 15 2019 11:23:48 AM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

41 लोगों की दावेदारी, नामांकन प्रक्रिया हुई पूरी, प्रत्याशी शुरू करेंगे जनसम्पर्क

भेल. भेल उपभोक्ता भंडार समिति चुनाव के लिए नामांकन प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। समिति में विभिन्न पदों के लिए अब तक 41 लोगों ने दावेदारी पेश की है। बता दें कि समिति में 8089 सदस्य हैं, जिसमें से करीब 2 हजार भेल के रेगुलर कर्मचारी हैं, बाकी भेल से रिटार्यड हैं। ऐसे में भेल कर्मचारी संगठनों के सदस्य भी मैदान में हैं। चुनाव कार्यक्रम के मुताबिक स्कूटनी के बाद शुक्रवार को दोपहर 3 बजे तक नाम वापसी की अंतिम तारीख है। 22 मार्च को सभी पदों के लिए मतदान होगा। 26 मार्च तक अध्यक्ष सहित संचालक मंडल का गठन कर दिया जाएगा।
भेल उपभोक्ता भंडार समिति में 11 संचालक मंडलों के लिए चुनाव हो रहे हैं। जिनमें 8 अनारक्षित 2 महिलाएं व 1 एससी वर्ग के लिए आरक्षित है। नामांकन दाखिल करने वाले सदस्यों में से ज्यादातर लोग पैनल बनाकर चुनाव लड़ रहे हैं। कुछ यूनियन प्रतिनिधियों के सदस्यों ने भी फार्म भरा है। रेगुलर भेल कर्मचारियों में अनिल गौर, सीआर नामदेव, राजेश शुक्ला, मिथिलेश तिवारी, सुनील महाले, सीएम साहू, शुशील सपकाल सहित विनीत वालायन, रामकिशोर, आरएस सिसोदिया, महेश मालवीया सहित महिला कर्मचारियों ने पर्चा दाखिल किया है।

आचार संहिता का चुनाव पर नही होगा कोई असर
नाम वापसी के बाद बचे हुए प्रत्याशियों को चुनाव चिन्ह अवांटित कर दिए जाएंगे। भेल संस्था का राजनीति से कोई लेना-देना नहीं है। इससे लोकसभा चुनाव के मद्देनजर लगाई गई आचार संहिता का समिति चुनाव पर कोई असर नहीं होगा। चुनाव अधिकारी विनय कौशल ने बताया कि सभी चुनावी प्रक्रिया को सहकारिता विभाग के निर्देश पर समयानुसार किया जा रहा है।


इधर, मैनेजमेंट ने चुनाव टालने कलेक्टर को पत्र लिखा
चालू वित्तीय वर्ष का अंतिम महीना चल रहा है। ऐसे में चुनाव में भेल कर्मचारियों की हिस्सेदारी उत्पादन लक्ष्य व प्रोडक्शन को प्रभावित कर सकता है। लिहाजा, मैनेजमेंट ने जिला कलेक्टर और सहकारिता विभाग को पत्र लिखकर चुनाव टालने की अपील की है। हांलाकि अब तक इस पर फैसला नहीं हो सका है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned