घर में 8 साल का बेटा देख रहा था अश्लील वीडियो, माता-पिता ने पूछा तो कहा- दोस्त बोला था कि अच्छी साइट्स है

घर में 8 साल का बेटा देख रहा था अश्लील वीडियो, माता-पिता ने पूछा तो कहा- दोस्त बोला था कि अच्छी साइट्स है

Muneshwar Kumar | Updated: 05 Jul 2019, 04:11:16 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

आठ साल के बेटे के पास पोर्न वीडियो देख माता-पिता के उड़ गए होश, मामले को दबाने में जुटी स्कूल प्रबंधन

भोपाल. स्मार्ट फोन और इंटरनेट आज हर बच्चे को उपलब्ध है। लेकिन गेम खेलने के साथ-साथ अब बच्चे उसका गलत प्रयोग करने लगे हैं। मोबाइल गेम पबजी के चक्कर में तो कई बच्चों की जान चली गई है। लेकिन मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल ( Bhopal News ) से एक बेहद ही चौंकाने वाला मामला सामने आया है। इस खबर के बाद हर माता-पिता को चौंकन्ना रहने की जरूरत है कि आपका बच्चा फोन पर क्या कर रहा है।


दरअसल, भोपाल के एक निजी स्कूल में तीसरी कक्षा में पढ़ाई कर रहा छात्र घर में बैठ मोबाइल पर अश्लील वीडियो ( porn video ) देख रहा था। जैसे ही बच्चे पर माता-पिता की नजर पड़ी तो उसके करीब गए। जब उनलोगों ने उसे ऐसा वीडियो देखते देखा तो वे लोग हिल गए। लेकिन जब बच्चे से पूछा कि इन चीजों के बारे में तुम्हें जानकारी कहां से मिली।

 

चौंकाने वाला दिया जवाब
माता-पिता के सवाल को सुनकर बच्चे ने कहा कि मुझे क्लास के ही एक दोस्त ने इन साइट्स के एड्रेस दिए थे। दोस्त ने कहा था कि ये बहुत अच्छी साइट्स हैं। इन्हें देखा करो। दोस्त ने बताया था कि इनमें अच्छे-अच्छे गेम्स आते हैं। इतना सुन पैरेंट्स के होश उड़ गए। बच्चा अभी तीसरी कक्षा का छात्र है। बमुश्किल से उसकी उम्र आठ से नौ साल होगी।

इसे भी पढ़ें: केन्द्र सरकार की गाइडलाइन पर बने EWS सर्टिफिकेट मध्यप्रदेश में नहीं होंगे स्वीकार

 

स्कूल में की शिकायत
बच्चे को अश्लील वीडियो देखता देख माता-पिता बेचैन हो गए। उसके बाद वे लोग स्कूल गए, जहां स्कूल प्रशासन ने अपनी गलती से पल्ला झाड़ लिया। उल्टे स्कूल की तरफ से कहा गया कि हमारे स्कूल में मोबाइल प्रतिबंधित है। यहां तक स्कूल के टीचर्स को भी इजाजत नहीं है।

 

स्कूल में नहीं है वो अब बच्चा
स्कूल प्रबंधन खुद का बचाव करने के लिए कहा कि आपलोग जिस बच्चे की शिकायत लेकर यहां पहुंचे हैं, वो बच्चा अब स्कूल में नहीं पढ़ता है। उसके बच्चे के पैरेंट्स स्कूल के सचिव के पास गए तो उन्होंने आश्वसान दिया है कि पूरे मामले की पड़ताल की जाएगी। उसके बाद ही कुछ कहा जा सकता है।

इसे भी पढ़ें: राज्य सूचना आयुक्त ने प्रमुख सचिव स्वास्थ्य विभाग को बनाया जवाबदेह, सतना CMO पर 25000 रुपये ज़ुर्माने का नोटिस!

 

हालांकि वीडियो देखने वाले छात्र के माता-पिता का कहना है कि वो अभी इसी स्कूल में पढ़ता है। हमलोगों ने स्कूल प्रबंधन को आवेदन देकर उस बच्चे का टीसी मांगा है। उसके बाद ही स्पष्ट हो पाएगा। लेकिन यह मामला काफी गंभीर है।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned