एसपी ने थानेदारों से मांगी अपराध स्थल की सूची, कहा क्षेत्र में लगाते रहे गश्त

पुलिस जवानों से ड्यूटी के दौरान लगातार अपने क्षेत्र में गश्त करने व संदिग्ध स्थान पर छापामार कार्रवाई करने पर भी बात हुई।

By: दीपेश तिवारी

Published: 11 Nov 2017, 04:15 PM IST

भोपाल। मध्यप्रदेश राजधानी भोपाल के एमपी नगर, जोन-2में हुए गैंगरेप मामले के बाद से भोपाल पुलिस, अपनी कानून व्यवस्था में सुधार करने की तैयारियों में जुट गई है। शहर के कई कोचिंग संस्थान रात 8 बजे बाद भी खुले रहते हैं, वहीं इस दौरान यहां आने वाली छात्राओं की सुरक्षा के मद्देनजर शनिवार को पुलिस कंट्रोल रूम में साउथ क्षेत्र के सभी थाना प्रभारियों की बैठक ली गई।

इस बैठक के दौरान एसपी ने पुलिस जवानों को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि, सभी थानेदार अपने-अपने क्षेत्र के सभी कोचिंग सेंटर की संख्या, शराब की दु्कानों, ह़ॉस्टल की संख्या व चिन्हित अपराध स्थल की सूची बनाकर जल्द प्रस्तुत करें। पुलिस जवान अपने ड्यूटी के दौरान लगातार अपने क्षेत्र में गश्त करते रहें, साथ ही संदिग्ध स्थान पर छापामार कार्रवाई भी करें।

यहां आदेशित किया गया कि पुलिसकर्मी कोचिंग इंस्टीट्यूट में पढ़े छात्र-छात्राओं के गतिविधियों के साथ, कोचिंग स्थान के बंद होने के समय पर भी निगरानी रखें। एसपी ने कहा कि शहर में हो रहे अपराध को रोकने के लिए मुखबिर का भी सहारा लें, जिससे अपराध होने से पहले ही अपराधी पर लगाम लगाया जा सके।

कोचिंग संस्थान के आस-पास खुले बियरबार पर भी पुलिस ने सख्ती करने का निर्देश दिया है। क्योंकि पुलिस का मानना है कि ज्यादातर अपराध नशे के वजह से होते है। बियर बार के बाहर नशे में घुमते शराबियों पर भी सख्त कार्रवाई करे। जिस प्रदेश में हो रहे अपराध को रोका जा सके।

पुलिसकर्मी ड्यूटी पर नहीं मिले तो गिरेगी गाज :
उन्होंने कहा कि अक्सर देखा जाता है पुलिसकर्मी अपने ड्यूटी क्षेत्र में नहीं रहते है। जिससे कई अपराधीक घटनाएं हो जाती है। प्रदेश में छेड़छाड़ व चोरी जैसी वारदात न हो इसलिए पुलिसकर्मी लगातार अपने क्षेत्र में गश्त लगाते रहे। ड्यूटी क्षेत्र में पुलिसकर्मी गश्त करते नहीं मिले तो उन पर अनुशासनिक कार्यवाई की जाएगी।

दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned