प्रेरणा : कर्मचारियों को बांटी साइकिल, ताकि कम हो वाहनों का इस्तेमाल

प्रेरणा : कर्मचारियों को बांटी साइकिल, ताकि कम हो वाहनों का इस्तेमाल

Shiv Kumar Sharma | Publish: Apr, 15 2018 08:52:45 PM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

पर्यावरण सुधार की अनोखी पहल

भोपाल। बिगड़ते पर्यावरण को सुधारने वाहनों का कम से कम उपयोग करने पर जोर दिया जा रहा है। इसे सार्थक करते हुए भेल की थ्रिप्ट सोसायटी एक पहल करते हुए सभी कर्मचारियों को साइकिल बांटी ताकि वे वाहनों की बजाय साइकिल का उपयोग करें। भेल कर्मचारियों का बचत बैंक, थ्रिफ्ट को-ऑपरेटिव सोसायटी ने वार्षिक लाभ-हानि का बजट पेश करने के साथ भेल के 5280 साइकिलों का वितरण किया। इसका असर भी नजर आया। भेल के हाट बाजारों में जहां पहले वाहन खड़े होते थे वहां अब साइकिलें नजर आ रही हैं। बच्चों से लेकर कर्मचारी व अधिकारी भी इन्हें पसंद कर रहे हैं। सोमवार को कारखाने में भी इसका असर देखने को मिलेगा। भेल कारखाने के इतिहास में 2006 में सोने के सिक्के वितरण के बाद पहली बार किसी उपहार को लेने के लिए अधिकारी व कर्मचारियों में इतना उत्साह देखने को मिल रहा है। इसके अध्यक्ष बसंत कुमार खुद एक पैर से आंशिक विकलांग है। इसी कारण उन्होंने ऐसा उपहार का चयन किया, जिसमें न पेट्रोल का खर्चा आएगा, न प्रदूषण होगा। सोसायटी के अध्यक्ष बसंत कुमार ने बताया कि 15 मिनट रोजाना साइकिल चलाने से एक घंटे के व्यायाम के बराबर लाभ मिलता है। कई बीमारियों से भी छुटकारा मिलता है। इसी को ध्यान में रखकर उपहार को बांटाने का विचार किया गया।

स्कूल बस स्टॉप के पास हादसों का खतरा
स्कूल बस के इंतजार में जहां हर रोज कई बच्चे खड़े होते हैं वहां अधूरा निर्माण दुर्घटनाओं को दावत दे रहा है। गुलमोहर कॉलोनी में ये स्थिति बन रही है। यहां औरा मॉल के पास बन रही सड़क का काम कई जगह अधूरा छोड़ दिया गया। मुख्य मार्ग पंजाब नेशनल बैंक के पास जो कि स्कूल के बच्चों का बस स्टॉप भी है वहां एक बड़ा सा गढ्डा नाली के पास बन गया है। अधूरे निर्माण कार्य से लोहे के सरिये और अलंगे वहीं पड़े हैं। इनके कारण आए दिन कोई न कोई वाहन चालक दुर्घटना ग्रस्त हो रहा है। स्थानीय रहवासियों व व्यापारियों ने इस मामले में नगर निगम के अधिकारियों व जनप्रतिनिधिओं को कई बार शिकायत की लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है। अगर ध्यान न दिया गया तो कभी भी यहां हादसा हो सकता है।

ताकि बच्चे व बुजुर्गों को मिले सहारा
पिछले आठ सालों से उन बच्चों को शिक्षा व स्वरोजगार से जोड़ रही है जो होटल, स्टेशन पर मजदूरी कर रहे हैं। इसी तरह बजुर्गों की मदद के लिए भी काम किया जा रहा है। संस्था इनके लिए स्वास्थ्य सुविधा, मनोरंजन, धार्मिक सत्संग कराती है। सोसायटी की अध्यक्ष रेखा सोनी ने बताया कि कई जरूरतमंद बच्चों और वृद्धों के सहयोग व मार्ग दर्शन के लिए लोगों के पास समय ही नहीं है, ऐसे में संस्था ने ये काम शुरू किया गया है। स्लम एरिया में जाकर खान-पान सामग्री, कपड़े आदि भी मुहैया कराए जाते हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned