MP में बोगस नहीं, बल्कि डुप्लीकेट वोटर! : ओपी रावत- see video

मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत का भोपाल दौरा...

By: दीपेश तिवारी

Published: 28 Aug 2018, 04:16 PM IST

भोपाल। फर्जी मतदाता को लेकर जो शिकायत आईं थी उनकी जांच में पता चला है कि वे दरअसल मतदाता बोगस नहीं, बल्कि डुप्लीकेट वोटर थे। यह कहना है मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत का, वे विधानसभा चुनाव की तैयारियों के सिलसिले में मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल आए हैं। यहां उन्होंने विभिन्न राजनीतिक दलों के साथ बैठक की।

इसके अलावा बैठक के बाद उन्होंने सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से 10-10 मिनट अलग से भी चर्चा की।वहीं रावत ने यह भी बताया कि मल्टीपल वोटर्स के नाम हटाने का काम आयोग तेजी से चल रहा है। आयोग राजनीतिक पार्टियों की हर तरह की समस्या को हल करेगा।

ये है मामला...
दरअसल इससे पहले प्रदेश की मतदाता सूचियों के सत्यापन में 24 लाख फर्जी वोटरों के नाम सामने आए थे। जिनके परीक्षण के बाद ये नाम हटा दिए गए। उधर, पुनरीक्षण के दौरान 11 लाख नए मतदाताओं के नाम जोड़े गए हैं। जिसके बाद अब प्रदेश में मतदाताओं की संख्या 4 करोड़ 94 लाख हो गई है।

जनवरी के आंकड़ों से यह संख्या 13 लाख कम है। फर्जी वोटरों को लेकर प्रदेश की राजनीति में बवाल मचा था। कांग्रेस इस मुद्दे को लेकर निर्वाचन आयोग तक पहुंची। उसके निर्देश पर मतदान दलों को घर-घर किए गए सर्वे में 24 लाख मतदाता ऐसे मिले, जिनकी पुष्टि नहीं हो पाई। इन्हें डेथ, शिफ्टेड और माइग्रेशन के साथ मल्टीपल इंट्री के पैरामीटर पर फर्जी पाया गया। इनके नाम सूची से काटे गए हैं।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वीएल कांताराव ने पिछले दिनों बताया था कि फोटोयुक्त मतदाता सूची के प्रकाशन की जानकारी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों को दे दी गई है।

फीडबैक का जायजा...
अब अगले 2 दिनों में प्रदेश में चुनाव की तैयारियों पर चर्चा होगी। राजनीतिक दलों की शिकायतों पर भी चर्चा होगी। कल मुख्य सचिव और प्रशासनिक स्तर के अधिकारियों के साथ बैठक कर पूर्व में दिए गए निर्देशों पर हुई कार्रवाई का फीडबैक का जायजा लिया जाएगा।

मंगलवार को मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत 7 राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक के बाद दोपहर डेढ़ बजे पत्रकारिता विश्वविद्यालय में आयोजित कार्यक्रम में भाग लेंगे। 29 अगस्त को मुख्य सचिव, डीजीपी सहित प्रदेश भर के कलेक्टर और एसपी के साथ बैठक होगी। ओपी रावत आयोग के अफसरों के साथ भी बैठक करेंगे।

Show More
दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned