पूर्व मंत्री उमंग सिंघार के लिए कांग्रेस एकजुट : विधायकों से मुलाकात के बाद कमलनाथ बोले- कानूनी चक्रव्यूह में फंसा रही सरकार

पूर्व मंत्री और गंधवानी से विधायक उमंग सिंघार के लिये सोनिया भारद्वाज आत्महत्या मामले में एकजुट हुई कांग्रेस।

By: Faiz

Published: 20 May 2021, 07:21 PM IST

भोपाल/ सोनिया भारद्वाज आत्महत्या मामले में एक तरफ तो पूर्व मंत्री और गंधवानी से कांग्रेस विधायक उमंग सिंघार के खिलाफ प्रशासनिक शिकंजा कसता जा रहा है, तो वहीं दूसरी तरफ पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ समेत मध्य प्रदेश कांग्रेस उमंग सिंघार के लिये एकजुट हो गई है। उमंग सिंघार के पक्ष में गुरुवार को पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह समेत कांग्रेस कमेटी और विधायक दल के पूर्व मंत्री व विधायक भोपाल में इकट्ठा हुए। सभी ने पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ से इस संबंध में मुलाकात की। बैठक में सिंघार के खिलाफ राजनीतिक द्वेष की भावना से दर्ज की गई एफआईआर वापस लेने के लिए रणनीति बनाई गई।

 

पढ़ें ये खास खबर- इस तस्वीर के जरिये सोशल मीडिया पर CM शिवराज से तक मांगी गई थी बच्चों के लिये मदद, पुलिस ने जांच के बाद उठाया सराहनीय कदम


कमलनाथ ने सीएम शिवराज से कहा...

बैठक के बाद पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि, मृतका सोनिया के बेटे आर्यन और उसकी मां के बयानों से इस बात की पुष्टि होती है कि, मामले में विधायक सिंघार के खिलाफ बिना ठोस सबूतों के ही मामला दर्ज कर लिया गया है। यह राजनीतिक विद्वेष की भावना से किया गया कार्य है। कमलनाथ ने कहा कि, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से से मेरा यही कहना है कि, मामले को राजनीतिक दुर्भावना से जोड़कर नहीं देखना चाहिए।

News

आर्यन को साथ लेकर इस मुद्दे को आक्रामक तौर पर उठाने की तैयारी में कांग्रेस

फिलहाल, मध्य प्रदेश कांग्रेस इस मुद्दे को आक्रामक तौर पर उठाने की तैयारी कर रही है। इसके पीछे कारण ये है कि, सोनिया का बेटा आर्यन-सिंघार के साथ खड़ा है। इससे दो दिन पहले पूर्व मंत्री जीतू पटवारी समेत पांच विधायक डीजीपी से उमंग सिंघार के खिलाफ कार्रवाई राजनीति से प्रेरित बताते हुए मुलाकात कर चुके हैं। शाहपुरा पुलिस ने उमंग सिंघार को सोनिया को आत्महत्या के लिए उकसाने की धाराएं लगाते हुए आरोपी बनाया है।

 

पढ़ें ये खास खबर- रेमडेसिविर कालाबाजारी मामला : पुलिस गिरफ्त में आया मंत्री तुलसी सिलावट की पत्नी का ड्राइवर, पूछताछ में सामने आई ये बात


अग्रिम जमानत के लिए आर्यन के बयान का सहारा

विधायक सिंघार के पास पुलिस से गिरफ्तारी से बचने के लिए अग्रिम जमानत लेना जरूरी है। इसके लिए सिंघार आर्यन के बयान के सहारे अपना पक्ष कोर्ट के सामने रख सकते हैं। वहीं पुलिस के मुताबिक, सारे सबूत जमा होने के बाद ही उनकी गिरफ्तारी होगी।

 

कोरोना वैक्सीन से जुड़े हर सवाल का जवाब - जानें इस वीडियो में

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned