script Crypto Fraud Case Study: डॉक्टर, इंजीनियर या है सरकारी अफसर तो, संभल जाएं, क्रिप्टो करंसी जालसाजों के निशाने पर हैं आप | crypto fraud cases in mp india cryptocurrency fraud cases study online trading | Patrika News

Crypto Fraud Case Study: डॉक्टर, इंजीनियर या है सरकारी अफसर तो, संभल जाएं, क्रिप्टो करंसी जालसाजों के निशाने पर हैं आप

locationभोपालPublished: Dec 28, 2023 12:10:31 pm

Submitted by:

Sanjana Kumar

Crypto Fraud Case Study: क्रिप्टो करेंसी की ऑनलाइन ट्रेडिंग कर कुछ ही समय में तीन गुना-चार गुना पैसा करने के नाम पर ठगी के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। अगर आप डॉक्टर, इंजीनियर और सरकारी अधिकारी हैं, तो अब अलर्ट हो जाएं...ये खबर पढ़कर खुली रह जाएंगी आंखें...

cryptocurrency_fraud_case_study_fraud_case_in_mp_india.jpg

Crypto Fraud Case Study: क्रिप्टो करेंसी की ऑनलाइन ट्रेडिंग कर कुछ ही समय में तीन गुना-चार गुना पैसा करने के नाम पर ठगी बढ़ गई है। हैरानी ये है कि इस मायाजाल में डॉक्टर, इंजीनियर और सरकारी अधिकारी फंस रहे हैं। प्रदेश के करीब 14 मामलों की पड़ताल में सामने आया कि सभी में ठगी का शिकार लोग ग्रेजुएट या उससे ज्यादा पढ़े-लिखे हैं।

विशेषज्ञों के अनुसार यह अंतराराष्ट्रीय नेटवर्क है, जो भारत में भी संचालित हो रहा है। इसके सरगना चीन और दुबई जैसे शहरों में बैठे हुए हैं। टेलीग्राम ग्रुप के जरिए भी ठगी की जा रही है। कभी-कभी तो पैसा लगवाने के बाद टेलीग्राम ग्रुप रातोंरात बदल दिया जाता है।

अब तक नहीं मिले पैसे

मुनाफा कमाने के लालच में करीब डेढ़ लाख रुपए गंवा चुके एक इंजीनियर ने बताया कि साइबर पुलिस के पास मामला है। फ्रॉड करने वाले व्यक्ति की लोकेशन आंध्रप्रदेश की आई है, लेकिन पुलिस इस इंतजार में है कि कुछ केस और आएं, तब जांच के लिए इकट्ठा जाएं।

लालच इस तरह

- ऑनलाइन धोखाधड़ी: ऐप या पोर्टल पर खाता बनवाकर डेढ़ से दो हजार के निवेश पर रिटर्न देते, इसके बाद लाखों के निवेश का लालच दिया जाता है।

- पैसा वॉलेट में आ जाता है, लेकिन उसे लॉक कर लगातार पैसे मांगे जाते हैं। साइबर सेल के पास ऐसे सैकड़ों मामले आ चुके हैं, जिसमें करोड़ों रुपए फंसे हुए हैं।

ऑनलाइन धोखाधड़ी

- देश में ऑनलाइन ठगी केमामलों में तीन गुना वृद्धि।

- सबसे ज्यादा साइबर ठगी वालेराज्यों में यूपी, महाराष्ट्र, दिल्ली, बिहार, मप्र और हरियाणा।

- हर महीने देशभर में करीब 15,320 मामले दर्ज हो रहे हैं।
मप्र में साल-दर-साल बढ़ रहा साइबर क्राइम का ग्राफ

वर्ष केस
2018 2834
2019 4058
2020 4735
2021 6592
2022 8976
2023 11500

साइबर क्राइम से सुरक्षित रहने का एक ही उपाय है कि डिजिटल स्वच्छता को अपनाया जाए। लालच में आने से बचें। जब तक आप सामने वाले को जानते नहीं हैं, तब तक भरोसा नहीं करें।

- योगेश देशमुख, एडीजी, राज्य साइबर क्राइम

ट्रेंडिंग वीडियो