दिग्विजय ने कहा- मैं अपनी पत्नी से बेहतर करता हूं ये काम, उम्मीद नहीं थी नर्मदा परिक्रमा के लिए हां बोलेंगी अमृता

दिग्विजय ने कहा- मैं अपनी पत्नी से बेहतर करता हूं ये काम, उम्मीद नहीं थी नर्मदा परिक्रमा के लिए हां बोलेंगी अमृता

Pawan Tiwari | Publish: May, 16 2019 01:01:45 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

दिग्विजय ने कहा- मैं अपनी पत्नी से बेहतर करता हूं ये काम, उम्मीद नहीं थी नर्मदा परिक्रमा के लिए हां कहेंगी अमृता

भोपाल. मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह अक्सर सुर्खियों में रहते हैं। दिग्विजय सिंह ने लोकसभा चुनाव के दौरान एक इंटरव्यू दिया था जिसके उन्होंने अपने ट्विटर पेज पर शेयर किया है। यह इंटरव्यू पीएम मोदी की तरह गैर राजनीतिक है। दिग्विजय सिंह ने इंटरव्यू में अपने जीवन से जुड़े कई बातों पर खुलासा किया है। इस दौरान उन्होंने अपनी पत्नी अमृता राय से जुड़ी बातें भी बताईं हैं। दिग्विजय सिंह ने कहा कि मैं अपनी पत्नी से बेहतर कुक हूं और मैं बहुत अच्छा खाना बनाता हूं।


उम्मीद नहीं थी नर्मदा परिक्रमा के लिए तैयार होंगी अमृता
दिग्विजय सिंह ने अपनी नर्मदा यात्रा की जानकारी साझा करते हुए बताया कि मैं जो चाह लेता हूं उसे पूरा जरूर करता हूं। मैं मां नर्मदा की परिक्रमा करना चाहता था। मैं नर्मदा परिक्रमा की बात अपनी पत्नी अमृता से शेयर करते हुए कहा- क्या तुम चलोगी। अमृता ने हां कर दिया। दिग्विजय ने कहा मुझे उम्मीद नहीं थी अमृता नर्मदा परिक्रमा के लिए हां करेंगी।


विपक्षी नेताओं में सबसे ज्यादा पसंद थे अटल
दिग्विजय सिंह ने कहा कि विपक्ष के नेताओं के तौर पर अगर कोई नेता मुझे सबसे ज्यादा पसंद था तो वो अटल बिहारी वाजपेयी जी हैं। वो अक अलग तरह की राजनीति करते थे। वहीं, दिग्विजय ने अपने राजनीति में आने का भी खुलासा किया। बोले मैं राजनीति में नहीं आना चाहता था। पर राघौगढ़ से सियासत में आने का किस्सा शुरू हो गया।

कैसे पड़ा दिग्गी राजा नाम?
दिग्विजय सिंह ने अपने दिग्गी राजा नाम के पीछे की भी कहानी बताई। उन्होंने कहा- दिग्विजय सिंह ने बताया कि मैं और बालकवि बैरागी अर्जुन सिंह की कैबिनेट में मंत्री थे। उस समय विट्स वाले आरके कलांजे आए हुए थे। रात में खाने का प्रोग्राम था। मैं और बालकवि बैरागी जी वहां मौजूद थे इस दौरान आरकेजी ने कहा- तुम्हारा नाम बहुत लंबा है। कोई दूसरा नाम नहीं है। मैंने कहा- नहीं। उसके बाद उन्होंने खुद ही कहा आज से तुम्हारा नाम दिग्गी राजा है। तब से लोग मुझे दिग्गी राजा कहने लगे।

पैसा कमाने के लिए राजनीति में नहीं आना चाहिए
दिग्विजय सिंह ने युवाओं को नसीहत देते हुए कहा- युवाओं को पैसा कमाने के लिए राजनीति में नहीं आने चाहिए। युवाओं को पहले यह सोचना चाहिए कि उनकी विचार धारा से कौन सी पार्टी मेल खाती है। भारत का इतिहास क्या है। कार्ल मार्स को पढ़ो और लोहिया को पढ़ो जब लगे की आपकी विचारधारा इस पार्टी से मेल खाती है उसके बाद राजनीति में कदम रखें।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned