Doctors बोले- किसी बच्चे को डॉक्टर मत बनाना, टीआई ने कहा- पुलिस भी नहीं

Doctors बोले- किसी बच्चे को डॉक्टर मत बनाना, टीआई ने कहा- पुलिस भी नहीं

Muneshwar Kumar | Updated: 18 Sep 2019, 05:37:23 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India


सातवें वेतनमान की मांग लेकर भोपाल में मंगलवार को डॉक्टरों ने प्रदर्शन किया, सीएम ने फोन पर की बात

भोपाल/ सातवें वेतनमान की मांग को लेकर भोपाल में मंगलवार को आठ सौ डॉक्टर सीएम कमलनाथ से मिलने जा रहे थे। उससे पहले ही पुलिसकर्मियों ने उन्हें रोक दिया। इस दौरान पुलिसवालों के साथ डॉक्टरों की झूमाझटकी भी हुई। पुलिसकर्मियों ने डॉक्टर्स को बंधक बना लिया ताकि वे आगे नहीं बढ़ सके। इस दौरान डॉक्टर और पुलिसकर्मियों के बीच कुछ दिलचस्प संवाद भी सुनने को मिली।

दरअसल, सीएम हाउस की तरफ बढ़ने की कोशिश कर रहे डॉक्टरों के साथ पुलिस की हाथापाई शुरू हो गई। इसी बीच किसी पुलिस अधिकारी ने कह दिया कि डंडा मारो। इस पर बात बिगड़ गई। बाद में आंदोलन कर रहे डॉक्टरों को समझाने के लिए कलेक्टर तरुण पिथौड़े और डीआईजी इरशाद वली भी पहुंच गए। इन्होंने डॉक्टर्स से कहा कि वे विभाग के प्रमुख सचिव से मिल लें, लेकिन डॉक्टरों ने इनकार कर दिया। डॉक्टरों ने कहा कि पीएस सब जानते हैं तो उनसे क्यों मिले। अगर पीएस को मिलना है तो खुद यहां आ जाएं।

7_3.jpg


ये हैं दिलचस्प बातें
विवाद और आंदोलन के बीच डॉक्टरों और पुलिस अधिकारियों के बीच हल्के फुल्के संवाद भी हुए। डॉक्टरों ने पुलिस से कहा कि आप लोग हमारी हालत देख रहे हैं, अपने बच्चों को डॉक्टर मत बनाना। टीआई ने कहा कि बच्चों को पुलिस भी ना बनाएं, हमारी हालात भी आपलोगों जैसी ही है।

8_1.jpg

सीएम ने की फोन पर बात
मुख्यमंत्री से ना मिल पाने से नाराज डॉक्टर्स ने मंगलवार रात नौ बजे सामूहिक इस्तीफा देने का ऐलान कर दिया। इस पर रात साढ़े आठ बजे मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि के रूप में विधायक सुनील उइके ने फोन कर डॉक्टरों को मिलने के लिए बुलाया। दो डॉक्टर्स को मिलने के लिए बुलाया। दो डॉक्टर्स विधायक के बंगले पर पहुंचे जहां उन्होंने मुख्यमंत्री से फोन पर बात की। मध्यप्रदेश मेडिकल टीचर्स एसोसिएशन के सचिव डॉ राकेश मालवीय ने बताया कि सीएम ने कहा है कि व्यस्तता के चलते वे अभी नहीं मिल पाए, लेकिन पांच दिन में डॉक्टर्स से जरूर मिलेंगे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned