scriptG 20 summit may be held in these two cities of MP | एमपी के इन दो शहरों में हो सकता है G 20 शिखर सम्मेलन, शुरु हुई आयोजन की तैयारियां | Patrika News

एमपी के इन दो शहरों में हो सकता है G 20 शिखर सम्मेलन, शुरु हुई आयोजन की तैयारियां

इस सम्मेलन में शामिल होने वाले अंतरराष्ट्रीय नेताओं अधिकारियों के प्रवास के लिए समिति बनी

 

भोपाल

Published: July 05, 2022 03:37:00 pm

भोपालः मध्यप्रदेश के 2 शहरों राजधानी भोपाल व व्यवसायिक राजधानी इंदौर में G-20 शिखर सम्मेलन प्रस्तावित है। जी 20 समूह के शिखर सम्मेलन में अनेक अंतर्राष्ट्रीय प्रतिभागी आएंगे। उनके स्वागत—सत्कार, आवास और सुरक्षा-व्यवस्था आदि के लिए समन्वय समिति बनाई गई है। सरकार ने समन्वय समिति का गठन मुख्य सचिव की अध्यक्षता में किया है जिसमें पर्यटन विभाग के प्रमुख सचिव को सदस्य सचिव एवं नोडल अधिकारी भी बनाया गया है।

g20.png
G 20 summit may be held in these two cities of MP

भारत 01 दिसंबर 2022 से 30 नवंबर 2023 तक जी-20 ग्रुप की अध्यक्षता करेगा. इस दौरान देशभर के अलग—अलग स्थानों पर बैठकों का आयोजन किया जाना है. इसके अंतर्गत करीब 190 बैठकें होंगी। मध्यप्रदेश के इंदौर और भोपाल में जी-20 समूह की शिखर सम्मेलन की बैठकों का प्रस्ताव है। इस दौरान अंतरराष्ट्रीय प्रतिभागियों के प्रवास को लेकर समन्वय समिति बनाई गई है. मुख्य सचिव की अध्यक्षता में बनी समन्वय समिति में अपर मुख्य सचिव, गृह विभाग के प्रमुख सचिव, औद्योगिक नीति एवं प्रोत्साहन विभाग के मुख्य कार्यपालन अधिकारी सदस्य होंगे. अटल बिहारी वाजपेयी सुशासन एवं नीति विश्लेषण संस्थान भोपाल के वरिष्ठ अधिकारी भी इस समिति में शामिल किए गए हैं।

क्या होता है जी-20 शिखर सम्मेलन
जी-20 ग्रुप राजनैतिक व आर्थिक दृष्टि से विश्व के प्रमुख देशों से मिलकर बना है। जी-20 देशों के पास विश्व की दो तिहाई जनसंख्या है। विश्व में होनेवाले अंतराष्ट्रीय ट्रेड का तीन चौथाई हिस्सा भी इन 20 देशों में ही होता है। विश्व की आर्थिक गतिविधियों में से 80% योगदान इस ग्रुप के 20 देशों का ही है। इसमें शामिल सभी 20 देशों के अध्यक्षों की वार्षिक बैठक होती है जिसे जी-20 शिखर सम्मेलन के नाम से जाना जाता है। सम्मेलन में दुनियाभर के मुख्य विषयों, अर्थव्यवस्था, ग्लोबल वॉर्मिंग, स्वास्थ और आतंकवाद सहित अन्य जरूरी मुद्दों पर चर्चा की जाती है। दुनिया की प्रमुख अर्थव्यवस्था वाले देशों ने 1999 में जी-20 की स्थापना की. दरअसल 1977 में आए वित्तीय संकट को ध्यान में रखते हुए दुनिया को ऐसे संकट से बचाने का विचार किया गया. इसके सालों बाद विस्तार से विचार विमर्श कर ये समूह बनाया गया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

गालीबाज भाजपा नेता पर रखा गया 25 हजार का इनाम, 40 टीमें तलाश में जुटीMaharashtra Coal Scam: दिल्ली कोर्ट का फैसला- पूर्व कोयला सचिव एचसी गुप्ता को 3 और कंपनी डायरेक्टर को 4 साल की जेलMaharashtra: ‘डबल इंजन’ की सरकार का आम जनता को होगा डबल फायदा, पीएम मोदी ने सीएम शिंदे से किया यह वादाबिहार में सियासी उलटफेर की आंशका, CM नीतीश कुमार ने सोनिया गांधी से की बात, सभी विधायकों को बुलाया पटनाखाटूश्यामजी हादसा: दो शवों की भी हुई शिनाख्त, पीएम मोदी ने जताया दुख, सीएम ने की जांच व मुआवजे की घोषणाMaharashtra: महाराष्ट्र में मंत्रिमंडल विस्तार जल्द, जानें BJP में कब शुरू होगी प्रदेश अध्यक्ष बदलने की प्रक्रियावेंकैया नायडू को विदाई में पीएम मोदी भावुक, कहा - 'आपके साथ काम करना हमारा सौभाग्य'Bihar Politics: राजद और JDU मिल जाए तो बिहार में आराम से बन सकती है सरकार, जानिए क्या है आंकड़े
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.