Hamidia Hospital : वेतन ना मिलने से नाराज कर्मचारी अघोषित छुट्टी पर, GMC ने खड़े किए हाथ

Hamidia Hospital : वेतन ना मिलने से नाराज कर्मचारी अघोषित छुट्टी पर, GMC ने खड़े किए हाथ

Yogendra Sen | Publish: Feb, 15 2018 08:19:48 AM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

मरीजों को नहीं मिल पर रहा समय पर इलाज

भोपाल। हमीदिया अस्पताल में नॉन मेडिकल वर्क संभालने वाली कंपनी नाकाम साबित हो रही है। १६ दिसंबर से हमीदिया अस्पताल में काम ? कर रही कंपनी ने अब तक अपने कर्मचारियों को वेतन तक नहीं दिया है। इससे नाराज 600 कर्मचारियों ने मंगलवार को हड़ताल कर दी थी। हड़ताल से घबराए कंपनी के अधिकारियों ने बुधवार दोपहर तीन बजे तक वेतन देने की बात कह कर हड़ताल खत्म करवा ली थी, लेकिन बुधवार शाम को भी वेतन नहीं मिला तो फिर से कुछ कर्मचारी अघोषित छुट्टी पर चले गए। इधर कंपनी ने कर्मचारियों को धमकी दी है कि यदि काम पर नहीं लौटे तो उन्हें वेतन नहीं दिया जाएगा। इससे डर कर कुछ कर्मचारी काम पर लौट आए हैं।

कुछ कर्मचाररियों को दिया आधा वेतन
नाराज कर्मचारियों ने जब नौकरी छोड़कर श्रम विभाग में शिकायत करने की धमकी दी तो यूडीएस कंपनी ने कुछ कर्मचारियों को नगद वेतन दे दिया। हालांकि यह पेमेंट सिर्फ १५ दिन का दिया गया है। कर्मचारियों का कहना है कि हमसे बैंक अकाउंट नंबर लेने के बाद भी यूडीएस कंपनी ने हमें कैश पेमेंट किया है।

मरीजों को हो रही दिक्कत
हमीदिया अस्पताल की व्यवस्थाएं सुधारने एक साल में 55 करोड़ रुपए से ज्यादा का बजट जीएमसी प्रबंधन को दिया गया है। इसमें से 12.5 करोड़ रुपए सिर्फ हाउसकीपिंग पर खर्च किए जाने हैं। अब कर्मचारियों के न होने से मरीजों को दिक्कत होने लगी है। इमरजेंसी में आने वाले मरीजों को न तो वार्ड ब्वॉय मिल रहे हैं और न ही वार्ड में किसी तरह की कोई मदद मिल रही है। स्ट्रेचर भी मरीज के परिजन ही धकेल रहे हैं।

प्रबंधन का कहना हमारा मतलब नहीं
इस पूरे मामले से हमीदिया अस्पताल के प्रबंधन ने अपने आप को अलग कर लिया है। अस्पताल की पीआरओ अमृता वाजपेयी का कहना है कि यूडीआई कंपनी से हमारा सीधा कोई संबंध नहीं है। एलएलएल ही यूडीएस का काम देखती है। हमने एचएलएल से कहा है कि वह व्यवस्थाएं बनाएं।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned