महंगाई के मुद्दे पर कांग्रेस ने मोदी सरकार को घेरा, सचिन पायलट पर बोली यह बात

महंगाई के विरोध में देशभर में कांग्रेस का विरोध प्रदर्शन, भोपाल में कांग्रेस महासचिव ने की प्रेस कांफ्रेंस...।

By: Arun Tiwari

Updated: 14 Jul 2021, 09:32 PM IST

भोपाल। डीजल, पेट्रोल और रसोई गैस की कीमतों पर हल्ला करने वाले नेता अब मौन हैं। भाजपा सरकार के लिए महंगाई डायन तो अब 'अप्सरा' बन गई है। इसके खिलाफ गांधीवादी तरीके से विरोध करेंगे।

 

यह बात बुधवार को कांग्रेस महासचिव (General Secretary of the All India Congress Committee) अजय माकन ने प्रेस कांफ्रेंस में कही। महंगाई के विरोध में कांग्रेस देशभर में विरोध कर रही है। इसी सिलसिले में महिला कांग्रेस गुरुवार को ब्लाक स्तर पर विरोध प्रदर्शन करने वाली है।

 

माकन (ajay makan) ने कहा कि चार महीने में पेट्रोल और डीजल की कीमतें 66 बार बढ़ाई गई हैं। मोदी सरकार ने अपने शासनकाल के पिछले 7 सालों में एक्साइज ड्यूटी से 25 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा का मुनाफा कमाया है। पिछले 7 सालों में पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी में 247 फीसदी और डीजल पर 794 फीसदी इजाफा किया गया है। पेट्रोल पर एक्साइज में पिछले 7 सालों में 23.42 रुपए प्रतिलीटर और डीजल पर 28.24 रुपए प्रतिलीटर की वृद्धि की गई।

 

सचिन पायलट के बारे में बोली यह बात

कांग्रेस के महासचिव और राजस्थान के प्रभारी (Rajasthan Congress In-charge Ajay Maken) अजय माकन कांग्रेस में चल रही खींचतान के सवालों पर उखड़ गए। राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के सवालों पर कहा कि मैं ऐसा कुछ नहीं कह सकता जो कल हेडलाइन बन जाए और महंगाई का मुद्दा पीछे रह जाए। भागीदारी के सवाल पर उन्होंने कहा कि मैं ये आपको क्यों बताऊं मिलेगी या नहीं। जो मुझे कहना होगा वो मैं सचिन पायलट से कहूंगा। माकन ने मीडिया से कहा कि क्या सचिन पायलट ने सत्ता में भागीदारी के लिए कोई शिकायत की है? माकन ने कहा कि राजस्थान में कांग्रेस की अंदरुनी खीचतान अब संभल चुकी है।

 

बुरे समय में साथी छोड़ देते हैं

मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ (kamal nath) के केंद्रीय स्तर पर बड़ी जिम्मेदारी संभालने और प्रशांत किशोर से कांग्रेस नेताओं की मुलाकात के सवाल पर माकन ने कहा कि ये उनके स्तर से ऊपर की बातें हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया (jyotiraditya m scindia) के मंत्री बनने के सवाल पर उन्होंने कहा कि क्या बोलूं और क्यों बोलूं। माकन ने कहा कि कौन-सा राजनीतिक दल है, जिसमें खींचतान नहीं होती। बुरा समय होता है तो कई साथी छोड़कर चले जाते हैं।

Jyotiraditya Scindia Kamal Nath
Show More
Arun Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned