मंकी मैन गिरोह गिरफ्तार, बड़ी चालाकी से चलती ट्रेनों में झपटते थे मोबाइल पर्स

जीआरपी ने चार आरोपियों को किया गिरफ्तार

By: Amit Mishra

Published: 25 Jun 2019, 01:26 PM IST

भोपाल. जीआरपी ( bhopal grp police ) ने चलती (train ) की खिड़कियों में लटककर बर्थ पर सो रहे यात्रियों के पर्स-मोबाइल (mobile purse ) झपटने वाले 'मंकी मैन गिरोह' (Monkey Man Gang Arrested ) के चार बदमाशों को गिरफ्तार (arrested) किया है। पुलिस ने (police) इनके पास से छह लाख कीमती जेवर बरामद किए हैं। जीआरपी टीआई हेमंत श्रीवास्तव ने ( GRP TI Hemant Srivastava ) ने बताया कि हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी निवासी मोहम्मद आमिर (19) उर्फ मंकी मैन, मो.फैजान, इमरान, आबिद को गिरफ्तार किया है। इनमें मोहम्मद आमिर गिरोह का मुख्य सरगना है।

खिड़की से हाथ डालकर चोरी कर लेते थे
टीआई हेमंत श्रीवास्तव ने बताया कि 27 मई को उज्जैन की डॉक्टर स्मिता करजगांवकर त्रिशताब्दी एक्सप्रेस से नागपुर जा रही थीं। रात डेढ़ बजे ट्रेन बरखेड़ी फाटक के पास धीमी हुई तो आमिर समेत उसके तीनों साथी चलती ट्रेन में खिड़कियों में लटक गए। स्मिता सिर के नीचे पर्स रखकर सो रही थी। जिसे आमिर खिड़की से हाथ डालकर चोरी कर लिया। वह चलती ट्रेन से कूदकर भाग निकला था। पर्स में 13 हजार नकदी, छह लाख कीमती सोने-डायमंड के गहने थे।

मोबाइल की आखिरी लोकेशन मिली थी
आरक्षक राजेश शर्मा ने बताया कि वारदात के तरीके से आमिर पर पुलिस को संदेह था। पुलिस ने स्मिता के मोबाइल की डिटेल देखी। तो पता चला कि स्मिता मोबाइल की आखिरी लोकेशन आमिर के घर के पास की थी।

 

पहले अकेले था, अब गिरोह बना लिया
आमिर पहले अकेले ही ट्रेन में वारदात को अंजाम देता था। पहले वह गेट के पास खड़े यात्री का मोबाइल छीनकर भागता था। जनवरी में पकड़े जाने के बाद जब वह जमानत से बाहर आया तो गिरोह बना लिया। वह ऐसे ट्रेक पर खड़ा होता है, जहां ट्रेन की रफ्तार धीमी होती है। निशातपुरा से भोपाल स्टेशन, बरखेड़ी से स्टेशन के बीच वह वारदात को अंजाम देता है।

Show More
Amit Mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned