अब गीले और सूखे कचरे को नहीं किया अलग तो लगेगा जुर्माना, नगर निगम से शुरू की सख्ती

यह कार्रवाई सिर्फ आम जनता पर नहीं, बल्कि अधिकारियों पर भी की जाएगी।

By: Pawan Tiwari

Published: 15 Aug 2020, 01:05 PM IST

भोपाल. अब कचरा फेंकने के तरीके पर भी आपको जुर्माना देना पड़ सकता है। यदि आप घर से गीला-सूखा कचरा अलग- अलग कर नगर निगम के सफाई कर्मचारियों को नहीं दे रहे हैं तो जुर्माने के लिए तैयार हो जाएं। स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 को देखते हुए नगर निगम ने कचरा प्रबंधन को लेकर सख्ती शुरू करदी है। यह कार्रवाई सिर्फ आम जनता पर नहीं, बल्कि अधिकारियों पर भी की जाएगी।

कचरा प्रबंधन के लिए काम करने वाली निगम को स्वास्थ्य शाखा के अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि शहर के सभी छह कचरा ट्रांसफर स्टेशनों पर सेग्रीगेशन ( गीले-सूखे कचरे को अलग- अलग करना) नहीं किया जाएगा। मतलब यह काम डोर-टू-डोर कलेक्शन में ही पूरा करना होगा।

दिखने लगा असर
गुरुवार को जारी निर्देशों का असर भी दिखाई दिया है। निगम के आंकड़े बताते हैं कि शहर का 70 फीसद कचरा मिश्रित आता है। अधिकारियों ने बताया कि शुक्रवार को मात्र 30 प्रतिशत कचरा मिश्रित निकला है। संबंधित जोनों की जिम्मेदारी संभाल रहे सहायक स्वास्थ्य अधिकारी (एएचओ) व स्वास्थ्य अधिकारी (एचओ) को घरों से ही कचरा सेग्रीगेशन का फरमान सुनाया है।

निगम प्रशासन द्वारा इसकी मॉनिटरिंग भी शुरू कर दी गई है। कचरे को लेकर नगर निगम ने अब तक महज लोगों को जागरूक करने का काम किया। जबकि इंदौर नगर निगम में सेग्रीगेशन को लेकर सख्ती से काम लिया जाता है। भोपाल में डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन का काम करने वाले कर्मचारी भी गीले-सूखे कचरे के नियम की अनदेखी करते हैं।

कचरे को लेकर यह रणनीति
घरों से निकलन वाले गीले- सूखे कचरे को लेकर सख्ती की जाए
कचरा ट्रांसफर स्टेशनों पर सेग्रीगेशन का काम नहीं किया जाएगा।
जिस जोन के कचरा वाहन मिश्रित वेस्ट लाएंगे, उनपर कार्रवाई की जाएगी।
कचरा वाहनों की टाइमिंग की मॉनीटरिंग होंगी।
व्यापारी क्षेत्रों में सुबह 9 व रहवासी क्षेत्रों में दोपहर 1 बजे तक कचरा।
प्रबंधन संबंधित काम पूरा करना होगा।

Show More
Pawan Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned