CCTV में दिखा थाने में शिवम को घसीटती पुलिस, पिता ने कहा- पीटकर की हत्या, मुंह में डाली शराब

CCTV में दिखा थाने में शिवम को घसीटती पुलिस, पिता ने कहा- पीटकर की हत्या, मुंह में डाली शराब

KRISHNAKANT SHUKLA | Updated: 20 Jun 2019, 09:25:50 AM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

  • पुलिस हिरासत में युवक की मौत, पिता ने कहा - सबूत मिटाने के साथ कहानी बनाने में जुटी पुलिस
  • बैरागढ़ थाना टीआई समेत पांच पुलिसकर्मी निलंबित
  • सोने की चेन-अंगूठी, 70 हजार रुपए और मोबाइल लूटने का भी आरोप

भोपाल. साइबर सेल में पदस्थ एएसआई के बेटे की बैरागढ़ थाने में मौत ने राजधानी पुलिस के व्यवहार पर सवाल खड़े कर दिए हैं। पिता ने आरोप लगाया कि पुलिसकर्मियों ने इकलौते बेटे की पीट-पीटकर हत्या कर दी। जांच को प्रभावित करने के लिए उसके मुंह में शराब डाली गई।

पुलिसकर्मी शव को अस्पताल के बाहर फेंककर भाग गए। परिजनों के विरोध, हंगामे के बाद गृहमंत्री बाला बच्चन ने न्यायिक जांच के आदेश दिए। इधर, आइजी योगेश देशमुख ने बैरागढ़ थाने के टीआई समेत पांच पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है। पुलिस का दावा है कि शॉर्ट पीएम रिपोर्ट में युवक की मौत हार्ट अटैक से होना सामने आई है।

बर्बरता की कहानी, गोविंद की जुबानी

जानकारी के मुताबिक, पुलिस रेडियो कॉलोनी, भदभदा निवासी शिवम मिश्रा (25) इंजीनियरिंग की पढ़ाई के साथ प्रॉपर्टी डीलिंग का काम करता था। उसके पिता सुरेश मिश्रा साइबर सेल मुख्यालय में एएसआई हैं। मंगलवार रात करीब 11 बजे शिवम कार से दोस्त गोविंद शर्मा के साथ होटल में खाना खाने के लिए बैरागढ़ की तरफ जा रहा था।

इस बीच कार बीआरटीएस लेन के बेरीकेड्स से टकरा गई। मौके पर पहुंची बैरागढ़ थाने की डायल-100 टीम शिवम-गोविंद को थाने लेकर आई। जहां, पुलिसकर्मियों से दोनों की कहासुनी हो गई। गोविंद ने आरोप लगाया कि पुलिसकर्मियों ने पूछताछ के दौरान दोनों से 3 घंटे तक मारपीट की और इसी से शुभम की मौत हो गई। गोविंद को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

शिवम के सीने पर लातें मारती रही पुलिस

पुलिस घटनास्थल से थाने तक डायल-100 में हम दोनों को मारते हुए लेकर आई। पुलिसकर्मियों ने शिवम के हाथ-गले से सोने की अंगूठी-चेन, मोबाइल, 70 हजार रुपए नकदी निकाल लिए। तीन पुलिसकर्मी करीब तीन घंटे तक लात-घूंसे, प्लास्टिक के डंडे से मारपीट करते रहे। शिवम बेहोश होकर फर्श पर गिर पड़ा। इसके बाद पुलिसकर्मी उसके सीने पर लात मारते रहे।

जैसा कि गोविंद ने बताया

जब उसकी सांस बंद हो गई तो जवान मुझे अलग करके उसे मेडिकल कराने का बहाना बनाकर अस्पताल लेकर गए। इसके बाद तड़के करीब चार बजे बैरागढ़ अस्पताल के बाहर स्ट्रेचर पर उसका शव रखा मिला। पुलिसकर्मी गायब थे। मेरे सीने-हाथ में मारपीट की गंभीर चोटें हैं। पुलिसकर्मी शराब पीने का फर्जी मुकदमा दर्ज करने की धमकी दे रहे थे।

शिवम को घसीटते दिखे पुलिसकर्मी

बैरागढ़ थाने के सीसीटीवी फुटेज भी सामने आए हैं। जिनमें शिवम जमीन पर गिरते दिख रहा है और पुलिसकर्मी उसे घसीटने के साथ मारपीट करते हुए नजर आ रहे हैं।

पुलिस में जाने की तैयारी कर रहा था बेटा

मेरा बेटा पुलिस में भर्ती होने की तैयारी कर रहा था। मुझे नहीं पता था कि मेरे ही डिपार्टमेंट के लोग उसकी हत्या कर देंगे। आरोपी पुलिसकर्मियों पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया जाए, तभी मेरे बेटे को न्याय मिलेगा।
- सुरेश मिश्रा, शिवम के पिता

न्यायिक जांच के आदेश

बैरागढ़ में हुई वाहन दुर्घटना के बाद शिवम मिश्रा की मौत की न्यायिक जांच के आदेश दे दिए गए हैं। जांच में जो भी दोषी होगा, उसे बख्शा नहीं जाएगा। परिवार के साथ न्याय होगा।
- कमलनाथ, मुख्यमंत्री

मर चुकीं संवेदनाएं

प्रदेश सरकार की संवेदनाएं मर चुकी हैं। पुलिस प्रशासन निरंकुश हो गया है। युवक की कार बीआरटीएस कॉरिडोर की रेलिंग से टकरा गई थी। ये ऐसी घटना ऐसी नहीं थी कि पुलिस युवक को पीट-पीटकर मार डाले। सरकार को मैं चेता रहा हूं, अगर ये चलता रहा तो हम चुप नहीं बैठेंगे।
- शिवराज सिंह चौहान, पूर्व सीएम

कॉर्डियक अरेस्ट से मौत

प्रथम दृष्टया मामले में पुलिसकर्मियों की लापरवाही नजर आ रही है। इसलिए थाने में पदस्थ पांच पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है। शॉर्ट पीएम रिपोर्ट में कार्डियक अरेस्ट से युवक की मौत होना सामने आया है।
- योगेश देशमुख, आईजी, भोपाल रेंज

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned