भोज यूनिवर्सिटी : ऑडिट करवाओ, सातवां वेतनमान पाओ

विवि के कर्मचारी कर रहे हैं वेतनमान बढ़ाने की मांग

By: govind agnihotri

Updated: 10 Dec 2020, 01:46 AM IST

भोपाल. पिछले कई सप्ताह से भोज विश्वविद्यालय में कर्मचारी संगठन प्रदर्शन कर रहे हैं। कर्मचारियों ने कुलपति पर कई गंभीर आरोप लगाए और कहा कि विश्वविद्यालय ने सातवां वेतनमान लागू नहीं किया है।
इस पर कुलपति का कहना है कि एडिशनल डायरेक्टर से जो कर्मचारी ऑडिट काराएंंगे, उनका सातवां वेतनमान लागू हो जाएगा। भोज विश्वविद्यालय के कुलपति जयंत सोनवलकर का कहना है कर्मचारियों उद्देश्य प्रदर्शन करके विश्वविद्यालय व कुलपति की छवि खराब करना है। वास्तविकता ये है कि साल 2014 में छठा वेतनमान मिलने के बाद किसी भी कर्मचारी ने अपनी वेतन पुस्तिका का सत्यापन क्षेत्रीय संचालक के माध्यम से नहीं करवाया। जिसके अभाव में सातवां वेतनमान नहीं मिल सकता है। कुलपति का कहना है कि सभी कर्मचारी अपनी सेवा पुस्तिका ऑडिट कराने के लिए घबरा रहे हैं। क्योंकि कई कर्मचारियों की मूल नियुक्तियां और अनियमितता भर्ती के दौरान हुई थी। विभाग द्वारा भी कुछ कर्मचारियों की सेवा पुस्तिका तलाश की जा रही है क्योंकि वह गायब है।

हड़ताल से कर्मचारी बना रहे हैं दबाव
भोज विवि के कुलपति का कहना है कि एक कर्मचारी पर तो आपराधिक प्रकरण दर्ज है और उस पर विश्वविद्यालय की ओर से कार्यवाही ना हो, इसलिए हड़ताल के माध्यम से लगातार प्रशासन पर दबाव बनाया जा रहा है।

विश्वविद्यालय के सभी कर्मचारियों की सुनवाई लगातार पिछले कई सालों से हो रही है। कर्मचारी लगातार प्रबंधन पर दबाव बनाकर प्रदर्शन कर रहे हैं। अनियमितताओं का ऑडिट नहीं करवा रहे हैं। जिसकी वजह से उनका सातवां वेतनमान रुका हुआ है। वह ऑडिट करवाकर आएंगे तो उनका वेतनमान बढ़ जाएगा।
जयंत सोनवलकर, कुलपति, भोज विश्वविद्यालय

govind agnihotri Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned