scriptSchool Holidays in August | बच्चों की फिर से होने वाली है मौज, स्कूलों में 3 दिन की छुट्टी | Patrika News

बच्चों की फिर से होने वाली है मौज, स्कूलों में 3 दिन की छुट्टी


छुट्टियों के चलते आप घूमने का प्लान कर रहे तो देखें लिस्ट

भोपाल

Published: August 15, 2022 12:03:33 pm

भोपाल। अगस्त के महीने में स्कूल और बैंको की छुट्टियां खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहीं हैं। यहीं कारण है कि इस बार लोग जगह-जगह घूमने का प्लान बना रहे हैं। वहीं स्कूली बच्चों में काफी उत्साह देखने को मिला है। रक्षाबंधन के बाद भी स्कूलों में छुट्टियों का दौर जारी है। 13 अगस्त को दूसरा शनिवार, 14 अगस्त को रविवार की छुट्टी थी। इसके बाद आज 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस में कार्यक्रम के लिए केवल बच्चों को जाना था। कई स्कूलों में 15 अगस्त के कार्यक्रम के बाद 16 अगस्त को भी छुट्टी दे दी जाती है। इसके बाद जन्माष्टमी की छुट्टी 18 अगस्त गुरुवार 2022 को है। फिर रविवार 21 को छुट्टी है।उसके बाद 28 अगस्त को रविवार का अवकाश रहेगा। इस प्रकार यह पूरा महीना छुट्टियों से भरा रहा। पूरे देश में लगभग एक दर्जन छुट्टियां रहीं।

capture.jpg
बच्चों की फिर से होने वाली है मौज, स्कूलों में 3 दिन की छुट्टी

अभी इतनी हैं छुट्टियां

जन्माष्टमी 18 अगस्त 2022 — गुरुवार
रविवार 21 अगस्त 2022 — रविवार
रविवार 28 अगस्त 2022 — रविवार

स्कूल शिक्षा विभाग का बड़ा फैसला

शिवराज सरकार ने प्रदेश में स्कूली शिक्षकों के लिए स्थायी तबादला नीति को मंजूरी दे दी। इसके तहत अब हर साल 31 मार्च से 15 मई तक तबादले होंगे। हर साल तबादला नीति लाने की जरूरत भी नहीं होगी। स्वैच्छिक तबादले के लिए शिक्षकों को ऑनलाइन आवेदन करना होगा। हर शिक्षक को कम से कम दस साल ग्रामीण क्षेत्रों में पढ़ाना होगा। बीते दिन सीएम शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में कैबिनेट बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई। बैठक में सीएम ने स्कूल शिक्षा मंत्री इंदरसिंह परमार को इस नीति के बिंदुओं का एक बार और परीक्षण करने के बाद ही लागू करने कहा है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि नीति के तहत आदिवासी इलाकों में प्रशासकीय आधार पर पदस्थ किए गए शिक्षकों को विशेष प्रोत्साहन भत्ता मिलेगा।

नई भर्ती पर पहले तीन साल गांव में

नए भर्ती होने वाले शिक्षकों को ग्रामीण क्षेत्र के स्कूलों में पहले तीन साल की अवधि पूरी करनी होगी। पूरी सेवा में 10 साल ग्रामीण क्षेत्रों में रहना अनिवार्य होगा। उन्हें इसका वचन पत्र देना होगा। हालांकि विशेष स्कूलों के लिए चयन परीक्षा से चयनित शिक्षकों को इसमें राहत दी जाएगी। अध्यापक संवर्ग से आए शिक्षकों को भी ग्रामीण क्षेत्रों के स्कूलों में 5 से 10 साल सेवा देनी होगी।

बड़ा खतरा शहरी शिक्षकों पर

दस साल से शहरों में पदस्थ स्कूली शिक्षकों को नई नीति के प्रावधानों के तहत गांवों में भेजा जाएगा। दस साल ग्रामीण सेवा अनिवार्य होने के कारण जो अब तक गांवों में नहीं गए, उन्हें अनिवार्य रूप से भेजा जाएगा। ये स्वैच्छिक आवेदन भी दे सकेंगे।

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

Swachh Survekshan 2022: लगातार छठी बार देश का सबसे साफ शहर बना इंदौर, सूरत दूसरे तो मुंबई तीसरे स्थान परअब 2.5 रुपये/किलोमीटर से ज्यादा दीजिए सिर्फ रोड का टोल! नए रेट लागूकांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए KN त्रिपाठी का नामांकन पत्र रद्द, मल्लिकार्जुन खड़गे और शशि थरूर में मुकाबला41 साल के शख्स को 142 साल की जेल, केरल की अदालत ने इस अपराध में सुनाई यह सजाBihar News: बिहार में और सख्त होगी शराबबंदी, पहली बार शराब पीते पकड़े गए तो घर पर चस्पा होंगे पोस्टर, दूसरी और तीसरी बार में मिलेगी ये सजास्वच्छता अभियान 2022 शुरू, 100 लाख किलो प्लास्टिक जमा करने का लक्ष्यसैनिटरी पैड के लिए IAS से भिड़ने वाली बिहार की लड़की को मुफ्त मिलेगा पैड, पढ़ाई का खर्च भी शून्यएयरपोर्ट पर 'राम' को देख भावुक हो गई बुजुर्ग महिला, छूने लगी अरुण गोविल के पैर, आस्था देख छलके आंसू
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.