कमलनाथ बोले- शिवराज आप इतने नालायक तो नहीं, सीएम ने कहा- जनता तय करेगी कौन लायक और कौन नालायक

पूर्व सीएम कमलनाथ द्वारा नालायक कहे जाने पर शिवराज सिंह चौहान ने पलटवार किया है।

By: Pawan Tiwari

Updated: 20 Sep 2020, 10:17 AM IST

ग्वालियर/भोपाल. मध्यप्रदेश में होने वाले उपचुनावको लेकर जुबानी हमले तेज हो गए हैं। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के बीच तल्ख बयानबाजी शुरू हो गई है। पूर्व सीएम कमलनाथ ने शिवराज को नालायक कहा तो शिवराज सिंह चौहान ने भी पलटवार किया है।

क्या कहा था कमलनाथ ने
दरअसल, कमलनाथ 18 और 19 तारीख को दो दिनों के ग्वालियर दौरे पर थे। इस दौरान उन्होंने सीएम शिवराज सिंह चौहान पर हमला करते हुए उन्हें नालायक कहा था। कमलनाथ ने कहा था हमने 10 दिनों में किसानों के कर्ज माफी की बात कही थी। अब शिवराज सिंह इतने नालायक तो नहीं है कि यह नहीं पहचान सकते कि 53 लाख किसानों के कर्ज माफी की कार्रवाई कैसे होगी। हमने किसानों के दो लाख रुपए तक के कर्ज की बात कही थी और 26 लाख किसानों का कर्ज माफ किया।

कमलनाथ ने कहा- हमने फसल कर्ज ऋण माफ करने की बात की थी जिनमें ट्रैक्टर और मकान खरीद लिया इस कारण माफ़ नहीं करना था। मुझे शिवराज सरकार से कोई सर्टिफिकेट की आवश्यकता नहीं है शिवराज सरकार मुझे 15 महीने का हिसाब पूछती है वह पहले अपने 15 साल का हिसाब दे। हमने वोट से सरकार बनाई थी नोट से नहीं।

शिवराज का पलटवार
पूर्व सीएम कमलनाथ द्वारा नालायक कहे जाने पर शिवराज सिंह चौहान ने पलटवार किया है। शिवराज ने कहा- यदि कमलनाथ जी को आरोपों की कीचड़ ही अच्छी लग रही है तो मुझे कोई आपत्ति नहीं है। कौन लायक है, कौन नालायक है यह तो जनता तय करती है। अब कमलनाथ जी खुद सोचें कि लायक कौन है और नालायक कौन है। जो सभी को एक भाव से देखे, गरीबों का सम्मान करें, किसान के कल्याण की योजना बनाये वो लायक है या नालायक यह फैसला जनता को करना है।

15 महीने उनकी सरकार थी, उन्होंने क्या किया? यह बड़ी लायकी की बात थी कि वल्लभ भवन को दलालों के अड्डा बना दिया। क्या यह लायकी है कि पूरे प्रदेश के विकास को ठप्प कर दिया? शराब माफिया कौन, रेत माफिया कौन, क्या यह बयान आपको याद नहीं हैं। क्या यह भी भूल गए कमलनाथ जी कि ग्वालियर-चंबल संभाग से एक मंत्री जो आज नदी बचाने का नाटक कर रहे थे। वो जनता से कह रहे थे कि हमें माफ कर दो, हम रेत का अवैध खनन नहीं रोक पाये। क्या किसानों से झूठ बोलना, बेरोजगारों से छल करना, बेटियों को ठगना लायकी है? कमलनाथ जी कौन सी लायकी और नालायकी की बात कर रहे हैं?

मैं जनता का सेवक
शिवराज ने कहा- मुझे कोई नालायक कहे मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता, मैं तो वैसे भी जनता का सेवक हूं। 15 महीनों में 5 मिनट के लिए भी आप ग्वालियर नहीं गए क्या यह लायकी है। आज आप कह दो कि मैंने तो किसी और पर छोड़ दिया था क्या यह लायकी है, वह भी तब जब चुनाव में उनका उपयोग करना था। मुख्यमंत्री जब भारत के संविधान की शपथ लेता है तब समानभाव की शपथ लेता है, लेकिन अब आप कह रहे हो कि मैंने तो ग्वालियर छोड़ दिया था। कितने भोले हैं कमलनाथ जी आप, क्या जनता इस भोलेपन को मान लेगी?

Jyotiraditya Scindia Kamal Nath
Show More
Pawan Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned