तीन किशोर, दो महिलाओं का चोर गिरोह, रोज मार रहे धावा, पुलिस नाकाम

तीन किशोर, दो महिलाओं का चोर गिरोह, रोज मार रहे धावा, पुलिस नाकाम

Bhalendra Malhotra | Publish: Jun, 14 2018 10:44:47 AM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

- चौकीदार होने के बावजूद दीवार फांदकर आ जाते हैं कॉलोनी में, एक हफ्ते में दो चौकीदारों और दो रहवासियों से छह बार हुआ आमना-सामना

भोपाल. लालघाटी इलाके की कॉलोनियों में चोरों का आतंक छाया हुआ है। पिछले कुछ दिनों से चोरों का एक गिरोह लगातार मकानों को निशाना बना रहा है। हालात यह है कि पिछले एक हफ्ते में ही पंचवटी कॉलोनी में चौकीदारों और मकान मालिकों से इनका सामना हो चुका है। एक बार एक संदिग्ध को पकड़ कर गश्त कर रही पुलिस को भी सौंपा, लेकिन इसके बावजूद चोर गिरोह का खुलासा होना तो दूर अब तक कॉलोनी को चोर गिरोह की वारदातों से ही मुक्ति नहीं मिल सकी है।

पंचवटी कॉलोनी निवासी कमल राजानी मोबाइल शॉप संचालक हैं। बीते बुधवार को कमल ने बालकानी से देखा तीन नकाबपोश किशोर घर की दीवार कूदकर अंदर कूद रहे थे। कमल ने शोर मचाया तो तीनों भाग निकले। सोमवार रात उन्होंने रात को फिर तीनों को अपने घर के परिसर में देखा, शोर मचाते हुए पकडऩे नीचे उतरे, लेकिन चोर भाग निकले।

तीन नम्बर गार्डन स्थित निर्माणाधीन मकान में चौकीदारी करने वाली लक्ष्मीबाई का सामना सोमवार रात नौ बजे चोरों से हुआ। एक युवक ने लक्ष्मी की गर्दन पर चाकू दिखाकर कहा, शोर मचाओगी तो काट देंगे, लेकिन वह धक्का देते हुए बाहर भागी और शोर मचा दिया। झूमाझटकी में एक चोर का नकाब निकल गया। लक्ष्मी के अनुसार लड़का सांवला था, उसके बाल सुनहरे थे। इसके ठीक पहले चोर पीछे की गली में एक ओर निर्माणाधीन मकान में घुसे थे जहां के चौकीदार के शोर मचाने पर भाग निकले और आधे घंटे के दूसरा धावा बोल दिया।

शनिवार को पंचवटी परिसर में घुसे तीन संदिग्धों को इलाके के निवासी हरीश जय सिंघानिया ने पकड़ा। सख्त आवाज में पूछने पर वे दाता कॉलोनी जाने का रास्ता पूछने लगे। पुलिस बुलाने की बात कहते ही तीनों भाग खड़े हुए। इसी कॉलोनी में रहने वाले जाफरी के घर में भी चोर घुसने की कोशिश कर चुके हैं। जाफरी ने उनका पीछा किया और उनके पीछे-पीछे पटरियों तक भी गए।

हम तक नहीं आई कोई शिकायत
इलाके के निवासियों का कहना है कि पहले कई बार पुलिस से शिकायत की, लेकिन कोई हल नहीं निकला। एक बार संदिग्ध को पकड़कर सौंपा, लेकिन पुलिस बोली इसके खिलाफ कोई सबूत नहीं है। एक-दो थाने में बयान देने गए फिर मामला ठंडा पड़ गया, अब केवल चोरों से लुका-छुपी चल रही है। यदि पुलिस सक्रियता दिखाकर इस इलाके में गश्त करे तो बड़े गिरोह का खुलासा हो सकता है।

Ad Block is Banned