scriptThousands of tons of sand deposited at many places in the city | शहर में कमाई के ढेर, हजारों टन स्टॉक | Patrika News

शहर में कमाई के ढेर, हजारों टन स्टॉक

शहर में कई स्थानों पर जमा हजारों टन रेत, बना दिए पहाड़ों जैसे ढेर, पाबंदी से पहले हो गई थी तैयारी
वैध या अवैध सरकारी अमला अनजान, कई स्थानों पर स्टॉक

भोपाल

Published: July 29, 2021 12:57:25 am

भोपाल. रेत खनन पर रोक के बाद राजधानी में 11 मील, रायसेन रोड, कोलार क्षेत्र में रेत डंप करने की अनुमतियां
जारी की जाती हैं। लेकिन इसमें से कितने ढेर वैध और अवैध हैं इसकी जानकारी खनिज अमले को भी कम ही रहती
है। बरसात के समय में हर साल इसी तरह होशंगाबाद रोड के किनारे और थोड़ा पीछे की तरफ इस तरह के ढेर लग रहे
हैं। रात को डंपर रेत लाने के बाद यहां एकत्र कर देते हैं, सुबह फुटकर में यहां से रेत की बिक्री की जाती है।

शहर में कमाई के ढेर, हजारों टन स्टॉक
शहर में कमाई के ढेर, हजारों टन स्टॉक

वर्तमान में रेत केे बढ़ते भाव से आम आदमी को घर बनाने का सपना महंगा हो रहा है। इस समय सरकार के पास भी
रेट कंट्रोल करने की कोई प्लानिंग नहीं होगी। खासकर कोरोना काल में जहां लॉकडाउन के चलते कई स्थानों पर डवलपमेंट के काम बंद हैं। ऐसे में रेत की आवक कम हुई थी लेकिन इस पर रोक लगने से कुछ पहले आवक बढ़ गई। पहले जहां एक दिन में तीन सौ से साढ़े तीन सौ ढेर रेत लेकर आते थे। वहीं आज ये संख्या घटकर दो सौ डंपर रोज
की रह गई।

खनिज चौकी खाली, विभागों ने बुलाए कर्मचारी
शहर के अंदर आने वाले रास्तों पर चोरी रोकने के लिए चार खनिज चौकियां बनाई गईं थीं, जहां पर ईटीपी, रॉयल्टी और ओवर लोडिंग की जांच की जाती थी, लेकिन कोविड की वजह से बिलखिरिया थाने के आगे रायसेन रोड, रातीबड़ थाने के पास जांच नाका और गोल जोड़ फारेस्ट चौकी कोलार रोड पर बनी चौकियों के कर्मचारियों को विभागों ने वापस बुला लिया। जिसकी वजह से इन क्षेत्रों से रेत का अवैध परिवहन जारी है। वर्तमान में सिर्फ 11 मील रोड समरधा पर ही जांच चौकी पर कर्मचारी तैनात हैं। यहां शार्टकट से रेत आ रही है।

पूर्व में पकड़ी जा चुकी है कई बार चोरी
एक ही ईटीपी पर कई डंपर नंबर प्लेट बदलकर अलग-अलग जिलों में रेत परिवहन कर रहे हैं, जिससे सरकार को नुकसान हो रहा है। इन चौकियों पर एक भी ट्रक रेत बिना वैध ईटीपी के और बिना रायल्टी जमा किए विक्रय नहीं होना चाहिए। संभागायुक्त ने बैठक कर इस व्यवस्था में सुधार कर चोरी रोकने के निर्देश दिए हैं।
  1. हमारे पास अमला नहीं
    रायसेन रोड, रातीबड़ थाने के पास जांच नाका और गोल जोड़ फारेस्ट चौकी कोलार रोड पर बनी चौकियों के कर्मचारियों को विभागों ने वापस बुला लिया है, हमारे पास अमला नहीं है।
    एचपी सिंह, जिला खनिज अधिकारी

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

UP Election 2022: यूपी चुनाव से पहले मुलायम कुनबे में सेंध, अपर्णा यादव ने ज्वाइन की बीजेपीकेशव मौर्य की चुनौती स्वीकार, अखिलेश पहली बार लड़ेंगे विधानसभा चुनाव, आजमगढ के गोपालपुर से ठोकेंगे तालकोरोना के नए मामलों में भारी उछाल, 24 घंटे में 2.82 लाख से ज्यादा केस, 441 ने तोड़ा दम5G से विमानों को खतरा? Air India ने अमरीका जाने वाली कई उड़ानें रद्द कीPM मोदी की मौजूदगी में BJP केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक आज, फाइनल किए जाएंगे UP, उत्तराखंड, गोवा और पंजाब के उम्मीदवारों के नामरोहित शर्मा को क्यों नहीं बनाया जाना चाहिए टेस्ट कप्तान, सुनील गावस्कर ने समझाई बड़ी बातखत्म हुआ इंतज़ार! आ गया Tata Tiago और Tigor का नया CNG अवतार शानदार माइलेज के साथकोरोना का कहर : सुप्रीम कोर्ट के 10 जज कोविड पॉजिटिव, महाराष्ट्र में 499 पुलिसकर्मी भी संक्रमित
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.