एकता से समाज की हर बुराई हो सकती है खत्म

एकता से समाज की हर बुराई हो सकती है खत्म

hitesh sharma | Publish: Sep, 03 2018 01:17:17 PM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

शहीद भवन में नाटक 'हम लड़ेंगे साथी' का मंचन

भोपाल। शहीद भवन में रविवार को चिल्ड्रन्स थिएटर आकदमी द्वारा बव कारंत स्मृति नाट्य समारोह आदरांजलि-16 के अंर्तगत नाटक 'हम लड़ेंगे साथी' का मंचन किया गया। इस नाटक का निर्देशन सुश्रुत गुप्ता द्वारा किया गया। नाटक में अवतार सिंह 'पाश' की कविता पर आधारित है। नाटक का यह दूसरा मंचन है। पहला शो शहीद भवन में ही 2015 में हुआ था। नाटक के माध्यम से संदेश देने की कोशिश की गई कि एकता की ताकत को कोई तोड़ नहीं सकता। एकता से समाज की हर बुराई को खत्म किया जा सकता है।

drama

नाटक की शुरुआत एक गावं से होती है, जहां लालचंद का आतंक होता है। इसकी नजर गांव की बहु-बेटियों पर होती है। गांव के मास्टर की बहन के साथ लालचंद दुष्कर्म करने के बाद उसे जलाकर मार देता है। मास्टर थाने में रिपोर्ट दर्ज करने जाता है, लेकिन थाना प्रभारी सबूत न होने के कारण रिपोर्ट दर्ज नहीं करता और मास्टर को समझाता है कि क्यों झगड़ा मोल लेते हो कुछ ले देकर मामला रफा-दफा करों लेकिन मास्टर लालचंद के खिलाफ लड़ाई जारी रखता है और बोलता रहता है कि हम लड़ेंगे साथी।

drama

वहीं इस बीच लालचंद गांव के एक व्यक्ति लठैत की पत्नी के साथ दुराचार करता है, तो लठैत की पत्नी और उसकी सास गांव के ही एक पेड़ में फंदा लगाकर फांसी पर झूल जाती है। नाटक की अंतिम कड़ी में दिखाया की कुछ दिन बाद मास्टर के सपने में वह लड़की आती है, और कहती है कि तुम्हारी आत्मा को मालूम है कि कुछ हुआ था लेकिन तुम कुछ नहीं कर सकें। वहीं एक लड़की गांव के बाबा के पास जाती है और कहती है कि हम सब मिलकर लड़ेंगे। नाटक में नाटक में अंकेश शर्मा, मेघा ठाकुर, शुवराज गौरव सक्सेना, रेखा ठाकुर, प्रथम भार्गव, ईशान गुप्ता, समक्ष जैन, ओम सिंह जादौन, हर्ष राव, भगत सिंह, राहूल खत्री आदि कलाकारों ने अभिनय का जौहर दिखाया।

 

Ad Block is Banned