टीका लगवाने केंद्रों पर बढ़ी भीड़, बिना पंजीकरण वालों के लिए वार्ड कार्यालय में होगा इंतजाम

कोरोना की तीसरी लहर से पहले टीके की पहली व दूसरी डोज लगवाने केंद्रों पर बिना पंजीकरण वालों की भीड़ बढ़ रही है।

By: Pradeep Kumar Sharma

Published: 12 Jul 2021, 01:12 AM IST

भोपाल. कोरोना की तीसरी लहर से पहले टीके की पहली व दूसरी डोज लगवाने केंद्रों पर बिना पंजीकरण वालों की भीड़ बढ़ रही है। विगत 10 दिनों में बागमुगालिया, सरस्वती शिश मंदिर, न्यू मार्केट सहित अन्य केद्रों में देखेन में आया है कि भीड़ में कई ऐसे भी लोग होते हैं, जो जल्दबाजी के चलते इंतजाम में खलल डालते हैं, जबकि उनके पास दूसरी डोज के लिए दो महीने तक का समय बचा होता है।
स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन के अधिकारियों की तरफ से की गई पड़ताल के बाद डोज आते ही वार्ड कार्यालयों में फिर से टीकाकरण शुरू कराया जाएगा। इसमें वे लोग जो रजिस्ट्रेशन नहीं करा पा रहे उन लोगों को स्पॉट रजिस्ट्रेशन की सुविधा दी जाएगी। ताकि अन्य सेंटरों से भीड़ कम हो सके। भोपाल में 16 लाख 71 हजार 955 लोगों को पहली डोज लगी है, जबकि दूसरी डोज वालों का आंकड़ा 3 लाख 18 हजार 405 ही है। ऐसे में 20 लाख की आबादी को दूसरी डोज लगने तक का सफर अभी लंबा दिखाई दे रहा है।

बढ़ाना होगा वैक्सीनेशन
कोरोना की तीसरी लहर से बचने के लिए सिर्फ वैक्सीनेशन ही कारागर है। पहले सेंटरों पर लोग बुलाए नहीं आते थे, अब जागरुक होकर आना शुरू हुए तो टीकों की कमी हो गई। एक रिपोर्ट के अनुसार जिले में करीब 60 हजार डोज बेकार भी हुए हैं। इसके बाद सत्रों की संख्या में कमी करते हुए सामान्य वैक्सीनेशन की जिले कमें किया जा रहा है। इसमें अव्यवस्था हो रही है। इधर पंचायतों में भी सामान्य सत्र ही चल रहे हैं।

डोज आते ही वार्डों में करेंगे शिफ्ट
एडीएम संदीप केरकेट्टा ने बताया कि अभी डोज आने वाली है। सेंटरों पर भीड़ बढ़ा रहे लोगों को नगर निगम के वार्ड कार्यालयों में शिफ्ट किया जाएगा। जो लोग रजिस्ट्रेशन नहीं करा पा रहे हैं उनको वहां पर स्लॉट बुकिंग की सुविधा दी जाएगी। जिससे उनको टीका लग सके और सेंटरों पर जो अचानक भीड़ बढ़ी है, वह कम हो सकेगी। सोमवार को नियमित सत्र चलेगा। इसके बाद टीका आते ही और सत्र बढ़ाए जाएंगे।

Pradeep Kumar Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned