Weather Alert: इन जिलों में भारी बारिश के आसार, मौसम विभाग ने किया अलर्ट

मौसम विज्ञानिक बोले- 4 से 12 अगस्त के बीच होगी धुंआधार बारिश...।

By: Manish Gite

Published: 03 Aug 2020, 04:05 PM IST

 

भोपाल। पूरे मध्यप्रदेश में एक बार फिर बारिश का दौर शुरू हो गया है। जुलाई माह में निराश करने वाला मानसून अब अगस्त में अच्छी बारिश लेकर आ रहा है। सोमवार के दिन सावन माह खत्म हो रहा है, जबकि मंगलवार से शुरू हो रहे भादो में अच्छी बारिश की उम्मीद की जा रही है। मौसम विभाग (imd) के मुताबिक मंगलवार से वातावरण में नया सिस्टम बने से अब तेज बारिश का दौर शुरू हो रहा है। मौसम विभाग ( India Meteorological Department ) ने एक बार फिर सोमवार को यलो अलर्ट जारी किया है।

 

मौसम विभाग ने सोमवार को यलो अलर्ट जारी कर एक दर्जन से अधिक जिलों में भारी बारिश की चेतावनी दी है। इसके अलावा कुछ जिलों में गरज-चमक के साथ बारिश और बिजली गिरने की भी आशंका जताई है। मौसम विभाग के मुताबिक सागर संभाग के जिलों में तथा उमरिया, कटनी, जबलपुर, मंडला, बैतूल, हरदा, खंडवा, खरगौन, धार, इंदौर, देवास, दतिया, मुरैना, भिंड जिलों में भारी बारिश की चेतावनी दी है।

 

 

इन जिलों में गिर सकती है बिजली :-:

मौसम विभाग ने कुछ जिलों में बिजली चमकने और बिजली गिरने की भी चेतावनी जारी की है। इसमें भोपाल और होशंगाबाद संभाग के जिले शामिल हैं। इनके अलावा खंडवा, खरगौन जिलों में भी बिजली चमकने के साथ ही बिजली गिरने की भी आशंका है।

 

 

weather1.jpg

यहां बारिश की संभावना :-:

मौसम विभाग ने सोमवार को पूर्वानुमान जारी कर कहा है कि प्रदेश के लगभग सभी संभागों में बारिश का दौर शुरू हो गया है। जबलपुर, होशंगाबाद, इंदौर और चंबल संभागों के जिलों में तथा उज्जैन, शाजापुर, सरतलाम, देवास, आगर जिलों में ज्यादातर स्थानों पर बारिश हो सकती है।
-इनके अलावा रीवा, शहडोल और सागर संभागों के जिलों में भी अनेक स्थानों पर बारिश या गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ सकती है।
-ग्वालियर और भोपाल संभागों के जिलों में तथा नीमच और मंदसौर जिलों में कुछ स्थानों पर बारिश की सभावना है।

 

क्या कहते हैं मौसम वैज्ञानिक :-:

मौसम वैज्ञानिक शैलेंद्र नायक के मुताबिक मानसून 4 अगस्त के बाद से तीन चार दिनों तक सक्रिय रहेगा। इस दौरान 12 अगस्त तक मध्य प्रदेश में सामान्य या सामान्य से अधिक वर्षा की संभावना है।

-एक कम दबाव क्षेत्र कल, 04 अगस्त 2020 तक बंगाल की उत्तरी खाड़ी में बनने की संभावना है। नतीजतन, मानसून गर्त जो वर्तमान में सामान्य स्थिति में है, अगले 3-4 दिनों के दौरान सक्रिय होने की संभावना है। निचले स्तर दक्षिण-पश्चिम / पश्चिमी हवाओं ने अरब सागर के ऊपर बंगाल की खाड़ी और अंडमान सागर के दक्षिणी भागों में मजबूत जुई हुईं है।


-मैडेन जूलियन ऑसिलेशन (MJO) इंडेक्स वर्तमान में चरण 4 में 1 से कम आयाम के साथ है जो 4 अगस्त से यह 1 से अधिक दौरान आयाम में होने की संभावना है। और फिर 10 से 12 अगस्त के दौरान यह आयाम 1 से कम होने की संभावना संभावना हैं।


-वर्तमान में, ENSO- तटस्थ स्थितियां भूमध्यरेखीय प्रशांत महासागर पर प्रचलित हैं एवं सबसे नया MMCFS पूर्वानुमान बताता है कि ये स्थितियाँ पूरी 12 अगस्त तक जारी रहने की संभावना है।

-वर्तमान में, हिंद महासागर के निकट तटस्थ IOD की स्थिति देखी जा रहीं है एवं नवीनतम MMCFS पूर्वानुमान बताता है कि संपूर्ण पूर्वानुमान अवधि के दौरान समान IOD की स्थिति 12 अगस्त तक जारी रहने की संभावना है।

6 से 12 अगस्त के दौरान मॉनसून ट्रफ के सामान्य स्थिति में या सामान्य स्थिति से दक्षिण में सक्रिय होने की संभावना है। मध्यप्रदेश सहित कोर मानसून क्षेत्र में वर्षा सामान्य या सामान्य से अधिक होने की संभावना है।

Show More
Manish Gite
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned