कांग्रेस में साढ़े छह साल बाद युवक कांग्रेस के चुनाव,

38 साल से बड़े नेता को नहीं मिलेगा मौका

- 19 मार्च युवक कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष का चुनाव

 

By: Arun Tiwari

Published: 26 Feb 2020, 07:57 PM IST

भोपाल : कांग्रेस में साढ़े छह साल बाद एक बार फिर युवक कांग्रेस के चुनाव होने जा रहे हैं। चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया गया है। 14 और 15 मार्च को प्रदेश अध्यक्ष से लेकर जिलों तक वोट डाले जाएंगे। 19 मार्च को चुनाव के नतीजे घोषित किए जाएंगे। चुनाव के जरिए युवक कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष, महासचिव, विधानसभा अध्यक्ष और जिला अध्यक्ष निर्वाचित होंगे। इससे पहले 2013 में कुनाल चौधरी युवक कांग्रेस के निर्वाचित अध्यक्ष बने थे। वे लगातार दो बार से प्रदेश अध्यक्ष के पद पर हैं। चुनाव में दो साल पहले बने सदस्य ही वोट डाल सकेंगे।

इस बार मोबाइल एप के जरिए वोटिंग होगी। इसके लिए वोट देने के पात्र सदस्य के मोबाइल नंबर पर ओटीपी आएगा। प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए उम्र की सीमा 30 साल से 38 साल तक रखी गई है। लंबे समय बाद एक बार फिर कांग्रेस में इस तरह के किसी चुनाव का मौका आया है। इसको लेकर युवा नेताओं में जोर आजमाइश शुरु हो गई है।

ये हैं प्रदेश अध्यक्ष पद के दावेदार :
युवक कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पद के प्रबल दावेदार विपिन वानखेड़े हैं, वे दिग्विजय सिंह के करीबी माने जाते हैं और वर्तमान में एनएसयूआई अध्यक्ष भी हैं। इंदौर के पिंटू जोशी को भी राजनीतिक संबंधों का लाभ मिल सकता है, वे कांग्रेस नेता महेश जोशी के पुत्र हैं और दिग्विजय गुट के माने जाते हैं। इनके अलावा पशुपालन मंत्री लाखन सिंह के भतीजे संजय यादव जो कि राष्ट्रीय युवक कांग्रेस की टीम के सदस्य हैं,वे भी प्रदेश अध्यक्ष बनना चाहते हैं। छिंदवाड़ा के नितिन भोज को मुख्यमंत्री कमलनाथ की निकटता से उम्मीद है और ज्योतिरादित्य सिंधिया गुट के भोपाल के कृष्णा घाडग़े सिंधिया की सिफारिश से उम्मीद लगाए बैठे हैं।

Arun Tiwari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned