लौट रहे प्रवासियों को क्वारेंटाइन सेंटर में रखने का विरोध, पुलिस ने किया लाठी चार्ज

Ganjam News: छतरपुर ब्लॉक का साना आर्यपल्ली गांव के लोग बीती देर रात बाहर से आए प्रवासियों (Villagers Protest Against Migrants Quarantine) को गांव में (Odisha News)...

By: Prateek

Updated: 08 May 2020, 09:17 PM IST

ब्रह्मपुर: ओडिशा में गंजाम जिला रेड जोन है यहां भी कई क्षेत्र कोरोना वायरस हॉटस्पॉट हैं। यहां पर अब तक कुल 71 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। जिले में कोरोना वायरस का खौफ इस कदर बढ़ गया है कि लोग गांवों में बाहर से आए अपने ही लोगों को घुसने नहीं दे रहे हैं। अस्थायी मेडिकल कैंपों के आसपास यह दहशत का सा माहौल है। आर्यपल्ली गांव के मेडिकल कैंप में आने के विरोध में प्रदर्शन हुआ और पुलिस को लाठी चलानी पड़ी। बाद इन प्रवासियों को अन्यत्र क्वारेंटाइन सेंटर में रखना पड़ा।


छतरपुर ब्लॉक का साना आर्यपल्ली गांव के लोग बीती देर रात बाहर से आए प्रवासियों को गांव में न घुसने देने के लिए सड़क पर उतर आए। गांव वाले यह भी नहीं देख रहे हैं कि प्रवासी श्रमिक क्वारेंटाइन पूरा कर चुका है या नहीं। या फिर ग्राम पंचायत में बने क्वारेंटाइन सेंटर में पहले उसे रखा जाएगा। आर्यपल्ली गांव पंचायत के क्वारेंटाइन सेटर में प्रवासी श्रमिकों को लेकर जैसे ही पुलिस पहुंची गांव वालों ने सड़क पर विरोध शुरू कर दिया। सैकड़ों ग्रामीण सड़क पर विरोध करने को उतर आए। पुलिस पर पथराव भी किया। ग्रामीणों को तितरबितर करने को पुलिस को लाठी चार्ज करना पड़ा।


बताया जाता है कि पंचायत स्तर पर बनाए गए क्वारेंटाइन सेंटरों मे सुरक्षा की भारी कमी होने से ऐसी घटनाएं हो रही हैं। उग्र ग्रामीणों को शांत करने के लिए पुलिस अधीक्षक को ग्रामीणों के साथ बैठक करनी पड़ी। घटना के अनुसार बीती रात आर्यपल्ली गांवे के 11 लोगों के साथ कुल 32 प्रवासी श्रमिकों को यहां पर बने क्वारेंटाइन सेंटर में रखने के लिए पुलिस लाई थी। यह खबर लगते ही गांव वाले एकत्र हो गए। पुलिस अधीक्षक बृजेश राय फोर्स के साथ पहुंचकर गांव वालों से बातचीत की तब कहीं भीड़ शांत हुई।

Prateek Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned